कमरे में ऐसे बुरे हाल में थे 7 युवक और 8 युवती, देखकर पुलिसकर्मी भी सन्न

उत्तराखंड के काशीपुर में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल (एएचटीयू) और पुलिस ने छापा मारकर एक होटल से सात युवक और आठ युवतियों को अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया है। पकड़ी गई महिलाओं में तीन शादीशुदा और दो किशोरी भी शामिल हैं। देह व्यापार में होटल संचालक और उसकी पत्नी के शामिल होने की भी बात सामने आई है।

इस खबर को शेयर करें

काशीपुर: उत्तराखंड के काशीपुर में एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल (एएचटीयू) और पुलिस ने छापा मारकर एक होटल से सात युवक और आठ युवतियों को अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया है। पकड़ी गई महिलाओं में तीन शादीशुदा और दो किशोरी भी शामिल हैं। देह व्यापार में होटल संचालक और उसकी पत्नी के शामिल होने की भी बात सामने आई है। पुलिस उनकी तलाश में भी दबिशें दे रही है। शनिवार शाम सूचना के आधार पर एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग सेल की निरीक्षक बसंती आर्य की अगुवाई में ट्रैफिकिंग सेल रुद्रपुर और कुंडा थाना प्रभारी प्रदीप नेगी ने ग्राम सरवरखेड़ा स्थित पैराडाइज होटल में छापा मारा। टीम ने होटल के सभी कमरों की तलाशी ली। वहां सात युवक और आठ महिलाएं संदिग्ध अवस्था में पकड़े गए। इनमें से कई के पास पहचान पत्र नहीं था। होटल के रिकॉर्ड में भी उनकी एंट्री नहीं की गई थी। पुलिस ने मौके से आपत्तिजनक वस्तुएं भी बरामद की हैं।

पुलिस ने बताया कि पूछताछ में सभी आरोपियों ने अनैतिक देह व्यापार में संलिप्त होने की बात स्वीकार की। पड़ताल में पुलिस को पता लगा कि होटल संचालक वेदप्रकाश चौहान और उसकी पत्नी सेक्स रैकेट चलाती है। एसपी चंद्र मोहन सिंह ने बताया कि इस प्रकरण में कुंडा थाने में अनैतिक देह व्यापार अधिनियम, छेड़छाड़ और पॉक्सो एक्ट में मुकदमा दर्ज किया गया है। पकड़े गए आरोपियों में दो किशोरियां हैं, जबकि तीन शादीशुदा महिलाएं भी शामिल हैं। एसपी ने बताया कि पुलिस को होटल संचालक और उसकी पत्नी की तलाश है। वहीं, इससे पहले 9 मई को रुद्रपुर में भी पुलिस ने होटल में संचालित सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने होटल से भारी मात्रा में आपत्तिजनक सामग्री और 1500 रुपये बरामद कर होटल संचालक और देह व्यापार में लिप्त महिला को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने दोनों के खिलाफ अनैतिक देह व्यापार एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश किया है।

एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट (एएचटीयू) को सूचना मिली कि शहर के ट्रांजिट कैंप थाना क्षेत्र के एक होटल में देह व्यापार का धंधा चल रहा है। होटल में मसाज सेंटर के साथ ढाबा भी संचालित है। इस पर पुलिस की एएचटीयू टीम सोमवार दोपहर में होटल पहुंची। एएचटीयू निरीक्षक बसंती आर्य के अनुसार, होटल की दूसरी मंजिल के एक कमरे में एक महिला आपत्तिजनक हालत में थी। महिला के साथ एक आदमी भी था जो पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया। हालांकि होटल संचालक व महिला ने भागे हुए आदमी के बारे में कुछ नहीं बताया। पांच महीने से होटल में देह व्यापार चल रहा था। पुलिस को होटल संचालक के फोन पर कई युवतियों की तस्वीरें और लोगों से डील करने की चैटिंग मिली है।

होटल संचालक को गिरफ्तार कर पूछताछ करने पर उसने बताया कि वह कौशलपुर, बिलासपुर निवासी नितई सरकार है जो सिडकुल के पास होटल चलाता है। वहीं महिला ने बताया कि वह मूलरूप से मेदिनीपुर, पश्चिम बंगाल निवासी है। नितई ग्राहक लेकर आता है जिसके बदले मिली हुई रकम का आधा हिस्सा वह लेती है और शेष नितई लेता है। महिला ने बताया कि नितई ने उसे होटल में एक कमरा मुप्त में दिया है। पुलिस ने होटल का कस्टमर एंट्री रजिस्टर मांगा तो वह भी मौके से नहीं मिला। पुलिस ने नितई सरकार समेत दोनों के खिलाफ अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कर कोर्ट में पेश किया।

महिला को ढाबे के काम के नाम पर रख कर कराता था देह व्यापार
एएचटीयू निरीक्षक बसंती आर्य ने बताया कि महिला से पूछताछ की तो उसने बताया कि वह पश्चिम बंगाल से आई है। नितई ढाबे में काम करवाने के नाम पर उससे देह व्यापार करवाता था। ग्राहकों से डीलिंग कर नितई उन्हें उसके पास लेकर आता था। होटल संचालक ने बताया कि वह अधिक रुपये कमाने के लिए यह धंधा कर रहा था। एएचटीयू निरीक्षक बसंती आर्य ने बताया कि सिडकुल के नजदीक होने के कारण होटल में दिनभर ग्राहकों की भीड़ लगी रहती थी।