हरियाणा में हुई अनोखी शादी, 7 फेरे भी हुए लेकिन बैरंग लौटी बारात, अब दुल्हन को मिलेंगे 65 लाख रुपए

A unique wedding took place in Haryana, 7 rounds took place but the wedding procession returned empty handed, now the bride will get Rs 65 lakh.
A unique wedding took place in Haryana, 7 rounds took place but the wedding procession returned empty handed, now the bride will get Rs 65 lakh.
इस खबर को शेयर करें

रेवाड़ी: हरियाणा के रेवाड़ी जिले के लाला गांव में शादी के दौरान 7 फेरे होने के बाद विदाई के वक्त दूल्हे ने फॉर्च्यूनर गाड़ी की मांग कर डाली. इस मांग के साथ दूल्हे ले यह धमकी भी दी कि अगर दुल्हन को बिना फॉर्च्यूनर कार के विदा किया तो घर ले जाकर वह उसे मार देगा. इस बात से घबराकर दुल्हन ने विदाई से इनकार कर दिया. इसके बाद रविवार को 11 गांवों की पंचायत ने लड़की पक्ष को 65 लाख रुपये देने और जुर्माने के तौर पर 11 लाख रुपये गोशाला में दान देने का फैसला सुनाया है.

जानकारी के अनुसार, गांव लाला के प्रदीप कुमार के बेटे मणि कुमार की शादी नारनौल के गांव निजामपुर की लड़की सुषमा से तय की गई थी. शनिवार को बारात निजामपुर पहुंची. इसके बाद शादी की सारी रस्में और सात फेरे भी हो गए. मामले ने उस समय नया मोड़ लिया, जब खाना-खाते समय दूल्हे ने लड़की पक्ष से फॉर्च्यूनर गाड़ी की मांग कर डाली. दूल्हे मणि कुमार ने कहा कि अगर फॉर्च्यूनर नहीं दी और दबाव डालकर अगर दुल्हन को उसके साथ विदा किया गया तो वह घर पर सात दिनों में दुल्हन को मार देगा.

दुल्हन ने विदाई से किया इनकार
दूल्हे की इस मांग को सुनने के बाद दुल्हन घबरा गई और उसने ससुराल जाने से इनकार कर दिया. इस बारे में जब दूल्हे से बात हुई तो उसने कहा कि उसने जो भी कहा, गुस्से में कहा. उसने केवल इतना कहा था कि अगर उसके पिता को कुछ हो जाए तो क्या वह उनकी सेवा और घर में बंधे पशुओं का कार्य करेगी? इस बात से जब लड़की ने इनकार कर दिया तो उसने गुस्से में ऐसा बोल दिया.

वहीं, दुल्हन ले बताया कि खाना खाते समय मणि ने उससे पूछा कि उसने कितनी पढ़ाई की है. उसने कहा कि वह इंग्लिश मीडियम से पढ़ा है और वह उससे कम पढ़ी-लिखी है. इस वजह से वह ये शादी नहीं करेगा. दुल्हन ने यह आरोप भी लगाया कि उसके परिवार से फॉर्च्यूनर गाड़ी की मांग की गई.

लड़के के पिता प्रदीप कुमार आर्मी से रिटायर हैं. अब वह हरियाणा पुलिस में कार्यरत हैं. उनका कहना है कि दहेज की कोई मांग नहीं की गई. लड़के ने जो भी कहा गुस्से में कहा. वे लड़की को खुशी-खुशी ले जाने के लिए तैयार हैं. लड़की के चाचा कंवल भास्कर ने बताया कि बहुत धूमधाम के साथ शादी संपन्न हुई थी. हमारे परिवार ने इस शादी में 15 लाख 51 हजार रुपये और 11 तोला सोने के आभूषण दिए. शादी पर कुल 60 लाख रुपये का खर्च आया. दहेज मांगने की सूचना मिलते ही निजामपुर थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई.

पंचायत का फैसला
रविवार को लाला गांव की पंचायत निजामपुर पहुंची जहां 11 गावों की पंचायत बुलाई गई. इसके बाद दोनों पक्षों में समझौता कराने की कोशिश की गई. अंत में फैसला हुआ कि शादी में खर्च हुई रकम (65 लाख रुपए) दूल्हा पक्ष को दुल्हन पक्ष को देना होगी. साथ ही, उन्हें 11 लाख जुर्माना के तौर पर गोशाला में भी दान करने होंगे.