पीएम मोदी के दोस्त ‘#अब्बास’ को लेकर सोशल मीडिया पर छिडी जंग, लोगों ने ढूंढा मोदी का दोस्त

ब्लॉग में उन्होंने अब्बास नाम के दोस्त का भी जिक्र किया है जिसे लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह की पोस्ट वायरल हो रही है. ट्विटर पर #अब्बास ट्रेंड कर रहा है.

A war broke out on social media over PM Modi's friend 'Abbas', people found Modi's friend
A war broke out on social media over PM Modi's friend 'Abbas', people found Modi's friend
इस खबर को शेयर करें

गांधीनगर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) की मां हीराबेन मोदी (Heeraben Modi) का आज 100वां जन्‍मदिन है. मां हीराबेन मोदी से पीएम गांधीनगर पहुंचे. इस दौरान पीएम मोदी ने मां हीराबेन मोदी के चरण धोकर उन्हें प्रणाम किया. मां ने भी बेटे का मुंह मीठा करवाया और आशीर्वाद दिया. PM ने मां के जन्मदिन को खास बनाने के लिए एक ब्लॉग के जरिए कुछ यादों को शेयर किया है. ब्लॉग में उन्होंने अब्बास नाम के दोस्त का भी जिक्र किया है जिसे लेकर सोशल मीडिया पर तरह-तरह की पोस्ट वायरल हो रही है. ट्विटर पर #अब्बास ट्रेंड कर रहा है. लोगों ने इस मामले को लेकर ट्विटर पर तरह-तरह की मीम शेयर करने शुरू कर दिए.

PM मोदी ने लिखा, ”मां हमेशा दूसरों को खुश देखकर खुश रहा करती हैं. घर में जगह भले कम हो, लेकिन उनका दिल बहुत बड़ा है.” इसके उदाहरण के तौर पर पीएम ने बताया कि हमारे घर से थोड़ी दूर पर एक गांव था, जहां मेरे पिताजी के बहुत करीबी मुस्लिम दोस्त रहा करते थे. उनका बेटा था अब्बास. दोस्त की असमय मृत्यु के बाद पिताजी असहाय अब्बास को हमारे घर ही ले आए थे. एक तरह से अब्बास हमारे घर में ही रहकर पढ़ा.

हम सभी बच्चों की तरह मां अब्बास की भी बहुत देखभाल करती थीं. ईद पर मां, अब्बास के लिए उसकी पसंद के पकवान बनाती थीं. यही नहीं, त्योहारों के समय आसपास के कुछ बच्चे हमारे यहां ही आकर खाना खाते थे. उन्हें भी मेरी मां के हाथ का बनाया खाना बहुत पसंद था.”

प्रधानमंत्री ने आगे लिखा, ”हमारे घर के आसपास जब भी कोई साधु-संत आते थे तो मां उन्हें घर बुलाकर भोजन अवश्य कराती थीं. जब वो जाने लगते, तो मां अपने लिए नहीं बल्कि हम भाई-बहनों के लिए आशीर्वाद मांगती थीं. उनसे कहती थीं “मेरी संतानों को आशीर्वाद दीजिए कि वो दूसरों के सुख में सुख देखें और दूसरों के दुख से दुखी हों. मेरे बच्चों में भक्ति और सेवाभाव पैदा हो उन्हें ऐसा आशीर्वाद दीजिए.”