‘हनुमान’ जी के बाद रामलला के दरबार में पहुंचे ‘गरुड़ देव’, मंदिर के अंदर परिक्रमा करते का वीडियो वायरल

इस खबर को शेयर करें

अयोध्या। अयोध्या में बने विशाल राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के बाद श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ती जा रही है। इंसानों के अलावा यहां जानवर और पक्षी भी रामलला के दरबार में जाकर हाजिरी लगाते नजर आ रहे हैं। कुछ दिन पहले रामलला के मंदिर में एक बंदर को देखा गया था। अब एक पक्षी को मंदिर के आसपास उड़ते देखा गया है। इसका एक वीडियो भी वायरल हुआ है। ये पक्षी कोई और नहीं बल्कि गरुड़ है जो श्रीरामजन्म भूमि में विराजमान बालक राम के दरबार में परिक्रमा करते नजर आया। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वीडियो को बड़े कौतूहल के साथ देखा जा रहा है। बताया गया कि घटना एक हफ्ते पहले की है, जब मध्याह्न एक पक्षी (बाज) अचानक गर्भगृह में ऊपर मंडराता दिखाई दिया। इसके कारण सुरक्षा बलों के हाथ पांव फूल गए। आशंका थी कि कहीं किसी ने चिप लगाकर न भेज दिया हो। इसके कारण सुरक्षाकर्मी पक्षी को बाहर करने के लिए घंटों मशक्कत करते रहे। उनकी आशंका तब निर्मूल साबित हुई जब वह स्वयं से देर रात बाहर निकल गया।

इस वायरल वीडियो की पड़ताल के दौरान राम मंदिर के सहायक पुजारी संतोष कुमार तिवारी ने बताया कि यह बाज पक्षी था जो कि गरुण देव की ही प्रजाति का था। बताया गया कि यह उत्तर द्वार से मंदिर में प्रवेश कर पहले गूढ़ी मंडप में चक्कर लगाता रहा और फिर सीधे गर्भगृह में प्रवेश कर गया। बताया गया कि उसके प्रवेश करते ही सीआरपीएफ जवान हड़बड़ा गये। उन्होंने सबसे वीडियो बनाया। इस दौरान मंडराते पक्षी का वीडियो मंदिर में मौजूद अन्य लोगों ने भी बनाया। इस पक्षी को निकालने के लिए सुरक्षा बल के जवानों ने खासी मेहनत की लेकिन वह ऊपर ही बैठ गया। बताया गया कि वह रात्रि शयन आरती के बाद मंदिर का पट बंद होने के ठीक पहले स्वत: बाहर निकल गया।

गर्भ ग्रह में पहुंचे थे हनुमान

22 जनवरी हुई राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के ठीक अगले दिन रामलला के मंदिर में एक अजीब घटना घटी थी, जिसे देख वहां तैनात सुरक्षाकर्मियों से लेकर मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी और पुजारी भी हैरान रह गए। दरअसल, शाम की आरती से ठीक पहले गर्भगृह में रामलला की मूर्ति के पास एक बंदर पहुंच गया। सबको लगा कि वो प्रभु की मूर्ति को नुकसान पहुंचाएगा, लेकिन वो एकटक उन्हें निहारता रहा और चुपचाप वहां से चला गया। इस पूरी घटना की जानकारी मंदिर ट्रस्ट ने अपने आधिकारिक एक्स हैंडल पर दी थी।