महिला से जबर्दस्ती कर रहे थे दो बदमाश, भैंस ने दिखाया ऐसा रुप, जान बचानी हुई भारी

Share this news

New Delhi : आप किसी बहुत बड़ी मुसीबत में फंसे हों. बचने का कोई रास्ता सूझ ही न रहा हो. ऐसे में अगर कोई भी मदद के लिए अचानक आ जाए तो वह फरिश्ते से कम नहीं होता. ऐसा ही एक मामला कर्नाटक की राजधानी बेंगलूरू में सामने आया. आमतौर पर जहां भैंस को बड़ी हिकारत की नजर से देखा जाता है कहावत भी बनी है कि

अक्ल बड़ी या भैंस, लेकिन एक भैंस ने ऐसा कारनामा किया है कि लोग उसकी सराहना कर रहे हैं.
दरअसल, यहां दो बदमाशों ने पता पूछने के बहाने एक महिला को बंधक बना लिया और उसके साथ अभद्रता करने लगे. महिला को बचने का कोई रास्ता नहीं दिखा तो वह शोर मचाने लगी.

ऐसे में एक भैंस फरिश्ता बनकर वहां पहुंची और उसने दोनों बदमाशों को भगा दिया. इस मामले की जानकारी जिसे भी मिली, उसने दांतों तले अंगुलियां दबा लीं.

यह है पूरा मामला
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बेंगलूरु के हावेरी जिले की सवाणूर तहसील में एक गांव हीरेमराहल्ली है. यहां 30 वर्षीय महिला चरवाहा रहती है. वह रोजाना अन्य ग्रामीणों के पालतू जानवरों को चराने के लिए ले जाती है. एक दिन जब वह नीलगिरी की झाड़ियों में भैंसें चरा रही थी, उस दौरान बसवराज (34) और परशुराम (32) नाम के दो युवक उससे पता पूछने लगे.

बताया जा रहा है कि दोनों आरोपी युवक बहाने से महिला को जबरन एक मंदिर के पीछे ले गए और दुष्कर्म का प्रयास करने लगे.

भैंस ने ऐसे बचाई अस्मत
जानकारी के मुताबिक, महिला ने खुद को बचाने के लिए शोर मचाया, लेकिन मदद के लिए कोई भी नहीं आया. अचानक एक भैंस वहां पहुंची और उसने अपने नुकीले सींगों से दोनों आरोपियों पर हमला कर दिया.

इस हमले से दोनों आरोपी डर गए. उन्होंने महिला को छोड़ दिया और मौके से भाग खड़े हुए. इसके बाद पीड़िता ने मामले की शिकायत ग्रामीणों से की, जिसके बाद सवणूर थाना पुलिस ने केस दर्ज कर लिया. पुलिस ने दोनों आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है