मुजफ्फरनगर में अखिल गुप्ता हत्याकांड में 7 साल से था वांछित, हरिद्वार में छिपा था साधु बनकर

कथावाचक आसाराम पर रेप के मामले में सरकारी गवाह रहे अखिल गुप्ता हत्याकांड में 7 साल से वांछित चल रहे प्रवीण शिवाजी कांवले को पुलिस ने अहमदाबाद से अरेस्ट कर लिया।

Akhil Gupta was wanted in Muzaffarnagar murder case for 7 years, was hiding in Haridwar as a monk
Akhil Gupta was wanted in Muzaffarnagar murder case for 7 years, was hiding in Haridwar as a monk
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। कथावाचक आसाराम पर रेप के मामले में सरकारी गवाह रहे अखिल गुप्ता हत्याकांड में 7 साल से वांछित चल रहे प्रवीण शिवाजी कांवले को पुलिस ने अहमदाबाद से अरेस्ट कर लिया। प्रवीण शिवाजी कामले आसाराम का पीए था। आसाराम के विरुद्ध कोर्ट में विचाराधीन रेप के मामले में गवाह अखिल गुप्ता की हत्या प्रवीण कांवले के इशारे पर की गई थी। अरेस्टिंग के बाद प्रवीण कांवले उर्फ प्रवीण वकील ने यह बात पुलिस से स्वीकार भी की। प्रवीण शिवाजी कांवले काफी वर्षों से भेष बदलकर हरिद्वार में साधु बनकर रह रहा था।

आसाराम पर रेप के मामले में गवाह की हुई थी हत्या

कथावाचक आसाराम को रेप के मामले में गुजरात पुलिस ने अरेस्ट किया था। जिसके बाद सीबीआइ ने मामले की जांच शुरू की थी। आसराम पर चल रहे रेप के मामले में उसका रसोइया रहा अखिल गुप्ता सीबीआइ का गवाह बन गया था। लेकिन 11 जनवरी 2015 की रात करीब 9 बजे जानसठ रोड पर अखिल की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

अखिल गुप्ता हत्याकांड की जांच कर रही क्राइम ब्रांच

7 वर्ष पूर्व हुए आसाराम के रसोइया और उसके विरुद्ध सीबीआइ के गवाह बने अखिल गुप्ता पुत्र नरेश गुप्ता की हत्या के मामले में नई मंडी कोतवाली पुलिस ने जांच शुरू की थी। लेकिन बाद में जांच क्राइम ब्रांच को ट्रांसफर हो गई थी। क्राईम ब्रांच ने हत्याकांड में प्रवीण शिवाजी कांवले पुत्र शिवाजी कांवले निवासी ग्राम अंजनहोड थाना जिला बीड महाराष्ट्र सहित 6 लोगों को आरोपी बनाया था। 6 माह पहले ही क्राइम ब्रांचन ने प्रवीण शिवाजी कांवले के विरुद्ध फरारी में ही चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी थी। जिसके बाद उसके विरुद्ध कोर्ट से एनबीडब्लू जारी हुए थे।

आसाराम के विरुद्ध गवाही न दे इसलिए कराई हत्या

सीओ नई मंडी हिमांशु गौरव ने बताया कि पुलिस ने अखिल गुप्ता हत्याकांड के आरोपी प्रवीण शिवाजी कांवले को अहमदाबाद गुजरात से अरेस्ट किया है। उन्होंने बताया कि अरेस्टिंग के बाद उसने बताया कि गुजरात में वह आसाराम का वकील और सेवक था। उन्होंने बताया कि आसाराम का गुजरात में रसोइया रहा अखिल गुप्ता उनके विरुद्ध रेप के मामले में गवाह बन गया था। वह गवाही देता तो आसाराम काे सजा हो जाती। इसलिए उसने अखिल गुप्ता को रास्ते से हटाने के लिए कार्तिक पुत्र दुलाल चंद से कहा था। उसके कहने पर ही कार्तिक ने 11 जनवरी 2015 को अखिल गुप्ता की हत्या की थी।

साधु बनकर वर्षो तक हरिद्वार में छिपा रहा प्रवीण

नई मंडी थाना पुलिस ने दावा किया है कि अखिल गुप्ता हत्याकांड का आरोपी प्रवीण शिवाजी कांवले को उसने अहमदाबाद से अरेस्ट किया है। अरेस्टिंग के बाद प्रवीण ने बताया कि वह अखिल हत्याकांड के बाद वह शुरुआत में वेष बदलकर पहले आसाराम बापू के आश्रम पुष्कर राजस्थान में रहा फिर वह जोधपुर चला गया और जोधपुर पेशी के दौरान वह कोर्ट में आसराम से लगातार मिलता रहा। उसके बाद वह हरिद्वार आश्रम में साधु बनकर रह रहा था। वर्तमान में वह किसी कार्य से अहमदाबाद गया था।

ATS गुजरात का दावा, प्रवीण को उन्होंने किया अरेस्ट

अखिल गुप्ता हत्याकांड में 7 साल से वांछित चल रहे आसाराम के पीए और अधिवक्ता प्रवीण शिवाजी कामले की गिरफ्तारी को लेकर एटीएस गुजरात ने भी दावा किया है। एटीएस गुजरात के एएसपी सुनील जोशी के अनुसार प्रवीण को एटीएस की टीम में शामिल निखिल ब्रह्मभट्‌ट, वाइजी गुर्जर ने अरेस्ट किया। उन्होंने बताया कि हरिद्वार में प्रवीण शिवाजी कामले उर्फ प्रवीण वकील शहर के बाहर एक कुटिया बनाकर साधु बनकर रह रहा था।