हिमाचल में बनी नकली दवाओं को लेकर देशभर में अलर्ट जारी, जानें क्या है मामला

नकली दवाओं को लेकर हिमाचल सरकार ने देश भर में अलर्ट जारी किया है। दवा निर्माण में बद्दी एशिया का सबसे बड़ा हब माना जाता है। बद्दी से ही सभी राज्यों के लिए दवाइयों की आपूर्ति होती हैं।

Alert issued across the country regarding fake medicines made in Himachal, know what is the matter
Alert issued across the country regarding fake medicines made in Himachal, know what is the matter
इस खबर को शेयर करें

शिमला: हिमाचल प्रदेश के सोलन के बद्दी में हाल ही में पकड़ी गई नामी कंपनियों के नाम पर तैयार नकली दवाओं को लेकर हिमाचल सरकार ने देश भर में अलर्ट जारी किया है। दवा निर्माण में बद्दी एशिया का सबसे बड़ा हब माना जाता है। बद्दी से ही सभी राज्यों के लिए दवाइयों की आपूर्ति होती हैं। ऐसे में हिमाचल सरकार ने सभी राज्यों के दवा नियंत्रक अधिकारियों को नकली दवाओं को लेकर आगाह करते हुए जांच करने के लिए कहा है। नकली दवाओं के मामले में प्रदेश सरकार लगातार दवा नियंत्रक प्राधिकरण अधिकारियों से रिपोर्ट ले रही है। अभी तक जांच में पाया गया है कि आरोपियों ने नकली दवाओं को उत्तर प्रदेश में बेचा है। ऐसे में दवा नियंत्रक प्राधिकरण की टीमें वहां भेजी जा रही हैं। अलीगढ़ और इटावा में दो टीमें बीते दिनों से डटी हैं। टीमें मेडिकल एजेंसी को बेची गईं इन दवाओं को खंगाल रही हैं।

अब तक उत्तर प्रदेश में पांच लाख रुपये की नकली दवाओं को बरामद किया जा चुका है। गिरफ्तार किए गए आगरा के रहने वाले मुख्य आरोपी मोहित बंसल के घर से बरामद की गई लूज दवाइयों को कब्जे में ले लिया गया है। इन दवाओं की अभी पैकिंग होनी थी। गत दिन भी मुरादाबाद से एक आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। हिमाचल दवा नियंत्रक प्राधिकरण को आशंका है कि आरोपियों ने उत्तर प्रदेश के अलावा अन्य राज्यों में भी नकली दवाओं की आपूर्ति की होगी। इसको लेकर जांच जारी है। हिमाचल में इन नकली दवाओं की आपूर्ति होने के अभी सबूत प्राप्त नहीं हुए हैं। इस मामले में पकड़े गए आरोपी के पास उत्तर प्रदेश का होलसेल दवा लाइसेंस है। ऐसे में राज्य दवा नियंत्रक प्राधिकरण की टीम यूपी की मेडिकल एजेंसी के पास उपलब्ध आपूर्ति को खंगाल रही है।

अब तक बद्दी में नकली दवा बनाने वाले चार आरोपियों को पकड़ा गया है। मामला गंभीर है। इस बारे में प्रतिदिन रिपोर्ट ली जा रही है। राज्यों को अलर्ट किया गया है। दवा नियंत्रक अधिकारियों को अपने-अपने राज्यों में नकली दवाओं की जांच करने के लिए कहा है। – सुभाशीष पंडा, प्रधान सचिव, स्वास्थ्य