अपने घर में हमेशा चाहते हैं मां लक्ष्‍मी का वास? करें ये काम, कभी खाली नहीं होगी तिजोरी

हर व्‍यक्ति चाहता है कि उस पर मां लक्ष्‍मी की कृपा हमेशा रहे, ताकि उसके जीवन में धन-दौलत की कमी ना हो. वह हमेशा सुख-समृद्धि से भरपूर जीवन जी सके. गरुड़ पुराण में कुछ ऐसे कामों के बारे में बताया गया है जिन्‍हें करने से कभी पैसों की कमी नहीं होती है.

Always want Maa Lakshmi to reside in your house? Do this work, the vault will never be empty
Always want Maa Lakshmi to reside in your house? Do this work, the vault will never be empty
इस खबर को शेयर करें

Garuda Purana: हर व्‍यक्ति चाहता है कि उस पर मां लक्ष्‍मी की कृपा हमेशा रहे, ताकि उसके जीवन में धन-दौलत की कमी ना हो. वह हमेशा सुख-समृद्धि से भरपूर जीवन जी सके. गरुड़ पुराण में कुछ ऐसे कामों के बारे में बताया गया है जिन्‍हें करने से कभी पैसों की कमी नहीं होती है. घर हमेशा धन-धान्‍य से भरा रहता है. साथ ही कुछ कामों से दूर रहने के लिए कहा गया है जो व्‍यक्ति को दरिद्र बनाते हैं.

जिन घरों में नियमित तौर पर धार्मिक ग्रंथों का पाठ होता है. धर्म-कर्म होता है, उन घरों में मां लक्ष्‍मी हमेशा वास करती हैं. ऐसे घरों में कभी पैसों की तंगी नहीं होती है.

जिन घरों की रसोई में हमेशा स्‍नान करने के बाद ही भोजन पकाया जाता है. रसोई को हमेशा साफ-सुथरा रखा जाता है. कभी जूठे बर्तन नहीं छोड़े जाते हैं, वहां कभी धन-धान्‍य की कमी नहीं होती है.

जिन घरों में रोजाना पहली रोटी गाय को और आखिरी रोटी कुत्‍ते को खिलाई जाती है, उन घरों पर हमेशा मां लक्ष्‍मी और शनि देव भी मेहरबान रहते हैं. ऐसे घरों में कभी भी धन-धान्‍य की कमी नहीं होती है.

जो लोग गुस्‍से से दूर रहते हैं, असहाय-निर्धन लोगों की मदद करते हैं. कभी किसी को सताते नहीं हैं, खूब दान करते हैं, उन पर मां लक्ष्‍मी विशेष तौर पर मेहरबान रहती हैं. ऐसे लोगों को धन की देवी लक्ष्‍मी खूब धन-संपत्ति देती हैं.

जिन घरों में कुलदेवता की पूजा की जाती है. विशेष तिथियों, त्‍योहारों के मौकों पर कुलदेवता का आशीर्वाद लिया जाता है. ऐसे घरों की 7 पीढ़ियां खुशहाल और समृ‍द्ध जीवन पाती हैं.

जिन घरों में कलह-झगड़े नहीं होते हैं. परिवार के सारे सदस्‍य एक-दूसरे के साथ प्रेम से रहते हैं. एक-दूसरे का सहयोग करते हैं, ऐसे घर मां लक्ष्‍मी को बहुत प्रिय होते हैं और वे हमेशा वहां वास करती हैं.