चलती शूटिंग के बीच अमिताभ बच्चन को प्रोड्यूसर ने फिल्म से निकाला, कुछ नहीं कर पाईं रेखा

Amitabh Bachchan Out From Film: करियर के शुरुआती दौर में अमिताभ बच्चन को एक फिल्म से इसलिए हटाया गया कि शूटिंग शुरू होने के बाद भी प्रोड्यूसर को फाइनेंसर-डिस्ट्रीब्यूटर नहीं मिले. फिल्म में रेखा भी थीं. आगे वक्त ने करवट बदली तो अमिताभ-रेखा ने सफलता का इतिहास रच दिया.

Amidst the ongoing shooting, the producer removed Amitabh Bachchan from the film, Rekha could not do anything
Amidst the ongoing shooting, the producer removed Amitabh Bachchan from the film, Rekha could not do anything
इस खबर को शेयर करें

Amitabh Bachchan Rekha Films: अमिताभ बच्चन और रेखा जोड़ी के रूप में पहली बार दुलाल गुहा की फिल्म दो अनजाने (1976) में साथ आए. दर्शकों ने दोनों को काफी पसंद किया. आगे चल कर अमिताभ-रेखा की जोड़ी हिंदी सिनेमा के इतिहास की सबसे सफलतम जोड़ियों में गिनी गई. दो अनजाने से पहले 1972-73 में एक फिल्म दोनों ने साथ में शुरू तो की थी, लेकिन निर्माता-निर्देशक ने सात रील बनने के बाद अमिताभ को फिल्म से हटा दिया क्योंकि उनकी फिल्में उस दौर में नहीं चल रही थीं. नतीजा यह कि उन्हें फिल्म के लिए फाइनेंसर और डिस्ट्रीब्यूटर नहीं मिल रहे थे. अमिताभ को हटा कर दूसरे एक्टर को लाया गया और फिल्म बना कर रिलीज की गई.

Sushmita Sen ने दी ऐसी गुड न्यूज, झूम उठे Lalit Modi

इस खान ने अमिताभ को किया रिप्लेस
अमिताभ-रेखा को लेकर शुरू हुई इस फिल्म का नाम था, अपना पराया. एक महीने तक फिल्म की शूटिंग चली. लेकिन महीने भर बाद फिल्म के डायरेक्टर कुंदन कुमार और निर्माता जीएम रोशन ने अमिताभ को हटा कर संजय खान को ले लिया. हालांकि इससे निर्माता को नुकसान हुआ. इस मामले में डायरेक्टर कुंदन कुमार का कहना था कि अमिताभ की लगातार फ्लॉप फिल्मों के कारण कोई भी डिस्ट्रीब्यूटर यह फिल्म खरीदने को तैयार नहीं हो रहा था. ऐसे में निर्माता ने ज्यादा जोखिम न लेते हुए शूट हो चुकी फिल्म को बंद डिब्बे में डालना उचित समझा. अमिताभ की जगह संजय खान को लेने के बाद निर्माता-निर्देशक ने फिल्म का नाम बदल कर दुनिया का मेला कर दिया.

Deepika Padukone On Depression:आते है आत्महत्या के ख्याल

किस्मत का फेर देखिए
इसे किस्मत का फेर ही कहेंगे कि जिस फिल्म में अमिताभ की जगह संजय खान ने ली, वह फ्लॉप हो गई और उसी समय अमिताभ की जंजीर सुपर डुपर हिट. 1973 में रिलीज हुई जंजीर ने अमिताभ को रातोंरात सुपरस्टार बना दिया था. उन पर एंग्री यंग मैन की छाप लग गई. इसके बाद अमिताभ के पास फिल्मों की लाइन लग गई. जबकि दुनिया का मेला अलगे साल 1974 में सिनेमाघरों में आई. मगर दर्शक उसे देखने नहीं गए. अमिताभ के बाद, संजय खान से पहले यह फिल्म नवीन निश्चल को ऑफर की गई थी. जो उन दिनों बड़े सितारे थे. लेकिन उन्होंने यह कहते हुए इसे छोड़ दिया कि एक स्ट्रगलिंग एक्टर की छोड़ी हुई फिल्म करना सही नहीं है.

Laal Singh Chaddha को लेकर Aamir Khan ने बोला इतना बडा झूठ, खुली पोल

एक गाना भी हो गया था शूट
अमिताभ जब अपना पराया की शूटिंग कर रहे थे, उस दौरान अमिताभ और रेखा पर एक गाना भी शूट कर लिया गया था. गाने के बोल थे, तौबा तौबा. जब संजय खान इस फिल्म में आए तो उन पर भी रेखा के साथ यह गाना शूट हुआ. यूट्यूब पर आज दोनों गाने मौजूद है.

Raksha Bandha-Lal Singh Chaddha की एडवांस बुकिंग शुरू,जानें कौन किस पर भारी

Sakshi Malik: कमबैक हो तो ऐसा! ‘गोल्डन’ गर्ल की एक चाल से विरोधी पहलवान पस्त