पंजाब में कांग्रेस को एक और बड़ा झटका, राज्यसभा में नेता पद की हैसियत खो देगी पार्टी?

इस खबर को शेयर करें

विधानसभा चुनाव में करारी शिकस्त के बाद पंजाब में कांग्रेस को एक और झटका लगने वाला है. राज्यसभा सीटों को लेकर भी पार्टी को बहुत जल्द नुकसान होने वाला है. क्योंकि इस साल के आखिर तक देश के 75 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव होना है, 13 सीटों का शेड्यूल जारी भी हो गया है. जिसमें 5 सीटें पंजाब की भी है.

राज्यसभा की 13 सीटों के लिए चुनाव होने वाले हैं. जिनके लिए आज अधिसूचना जारी हो रही है. 31 मार्च को इन 13 सीटों पर चुनाव होगा. इस बीच असम, हिमाचल प्रदेश, केरल, नागालैंड और त्रिपुरा के कुल 8 सदस्यों का कार्यकाल दो अप्रैल को खत्म हो रहा है तो पंजाब में भी 5 सीटें खाली हो रही हैं. दरअसल 5 सदस्यों का कार्यकाल 9 अप्रैल को पूरा हो जाएगा.

वहीं पंजाब चुनाव हारने से कांग्रेस को राज्यसभा की सीटों का नुकसान होगा ये तो जाहिर है. बता दें कि पंजाब में 77 सीटों से 18 पर सिमट चुकी कांग्रेस को राज्यसभा सीटों का भी नुकसान होगा. कुल मिलाकर इस साल के आखिर तक कांग्रेस के सामने राज्यसभा में विपक्ष के नेता पद की हैसियत खोने का भी खतरा है. क्योंकि कांग्रेस की कुल सीटें 25 से भी नीचे जा सकती हैं.

चुनाव में कांग्रेस का रहा खराब प्रदर्शन

दरअसल हाल ही में पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव का रिजल्ट आ चुका है. कांग्रेस इस बार चुनाव में बड़ी उम्मीद लगाए बैठी थी लेकिन जब नतीजे आए तो पंजाब भी हाथ से निकल गया. पंजाब में कुल सीट 117, कांग्रेस को मिली सिर्फ 18 ही मिली. लाजमी है इन सीटों को देखते हुए पार्टी में सिर फुटव्वल तो होना ही था. चुनाव में कांग्रेस के प्रदर्शन को देखते हुए दिल्ली में गुलाम नबी आजाद के घर उन कांग्रेस नेताओं की बैठक भी हुई जो लंबे वक्त से पार्टी में नेतृत्व परिवर्तन की मांग कर रहे हैं और जिन्हें जी-23 के नाम से जाना जाता है.