हरियाणा में बेमौसम वर्षा-ओलावृष्टि से शहरों के अलावा 500 गावों प्रभावित, करीब 200 गांवों में फसल को नुकसान

Apart from cities, 500 villages were affected due to unseasonal rain and hailstorm in Haryana, crops were damaged in about 200 villages.
Apart from cities, 500 villages were affected due to unseasonal rain and hailstorm in Haryana, crops were damaged in about 200 villages.
इस खबर को शेयर करें

हिसार/चंडीगढ़। पश्चिमी विक्षोभ के चलते सभी पहाड़ी राज्यों में लगातार हो रही बर्फबारी हो रही है। इधर, हरियाणा में शनिवार को हुई भारी वर्षा और ओलावृष्टि के बाद रविवार को मौसम साफ हो गया है। दिन में धूप निकली। उधर, पहाड़ों की बर्फ पिघलने से सोम और बरसाती नदी उफान पर है। यमुनानगर में कई गांवों की एक हजार से ज्यादा एकड़ में फसलों में पानी घुस गया। बेमौसम वर्षा-ओलावृष्टि का असर प्रदेशभर में शहरों समेत 570 गांवों में अधिक देखने को मिला।

इनमें से 200 से ज्यादा गांवों में करीब तीन लाख हेक्टेयर में गेहूं और सरसों की फसल को नुकसान का अनुमान है। सोमवार से कृषि विभाग नुकसान का आंकड़ा जुटाएगा। इसी बीच, हरियाणा सरकार ने राज्य में हुई तेज बारिश और ओलावृष्टि के चलते स्पेशल गिरदावरी का काम 15 मार्च तक बढ़ा दिया है। राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री के नाते डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला ने कहा कि पिछले दिनों आई बरसात के बाद से प्रदेश में गिरदावरी का कार्य पहले से चल रहा है। अब स्पेशल गिरदावरी के आदेश दिए गए हैं, जो कि 15 मार्च तक पूरी कर ली जाएगी। डिप्टी सीएम ने बताया कि अगले दो से तीन दिनों तक भी मौसम खराब होने की सूचनाएं मौसम विभाग द्वारा दी गई हैं। इसके बाद स्पेशल गिरदावरी का काम तेज कर दिया जाएगा।

दुष्यंत चौटाला के अनुसार हरियाणा सरकार द्वारा ई-क्षतिपूर्ति पोर्टल भी खोला जा रहा है। किसानों की जो भी फसल खराब या बर्बाद हुई है, उसे वे ई-क्षतिपूर्ति पोर्टल पर अपलोड करें। राज्य सरकार नियमों के हिसाब से सभी प्रभावित किसानों को उनकी बर्बाद हुई फसल का पूरा मुआवजा प्रदान करेगी।