Asia Cup 2022: अब कभी मारने के लिए बल्ला नहीं उठाएगा पाकिस्तानी बल्लेबाज, ICC ने दी चौंकाने वाली सजा

PAK vs AFG: अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच हुए मुकाबले में कई तगड़ी घटना देखने को मिली. जिसमें आसिफ अली और फरीद अहमद के बीच हुई झड़प ने खूब सुर्खियां बटोरीं. हालांकि अब इन दोनों खिलाड़ियों को आईसीसी ने सजा दी है.

Asia Cup 2022: Now Pakistani batsman will never pick up bat to kill, ICC gives shocking punishment
Asia Cup 2022: Now Pakistani batsman will never pick up bat to kill, ICC gives shocking punishment
इस खबर को शेयर करें

Asia Cup: पाकिस्तान ने एशिया कप टी20 टूर्नामेंट के ‘सुपर फोर’ मैच में बुधवार को अफगानिस्तान को एक विकेट से हराकर फाइनल का टिकट पक्का किया. इस मैच में एक ऐसा बवाल मच गया, जिसकी वजह से बीच मैदान पर दोनों ही टीमों के खिलाड़ी आपस में भिड़ गए. इस मैच पाकिस्तान के बल्लेबाज आसिफ अली और अफगानिस्तान के गेंदबाज फरीद अहमद के बीच झड़प होते-होते बच गई. लेकिन अब इन दोनों खिलाड़ियों को सजा दी गई है.

दोनों को पाया गया दोषी
पाकिस्तान के आसिफ अली और अफगानिस्तान के गेंदबाज फरीद अहमद पर एशिया कप सुपर फोर चरण के मैच के दौरान मैदान पर झड़प के कारण मैच फीस का 25 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है. दोनों को आईसीसी की आचार संहिता के लेवल एक के अपराध का दोषी पाया गया. आईसीसी के बयान के अनुसार अली ने आईसीसी आचार संहिता की धारा 2.6 का उल्लंघन किया जो अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान अश्लील, आक्रामक या अपमानजनक इशारे से संबंधित हैं.

मैदान पर हुई थी झड़प
वहीं फरीद को धारा 2.1.12 के उल्लंघन का दोषी पाया गया जो खिलाड़ी, सहयोगी स्टाफ, अंपायर , मैच रैफरी या किसी भी व्यक्ति के साथ अनुचित शारीरिक संपर्क संबंधित है. इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर भी लगातार आसिफ को बैन करने की बात की जा रही थी. हालांकि आईसीसी ने इन दोनों खिलाड़ियों को जुर्माने के साथ ही छोड़ दिया.

क्या था मामला?
हुआ यूं कि 19वें ओवर की पांचवीं गेंद पर पाकिस्तान के बल्लेबाज आसिफ अली फरीद अहमद की गेंद पर बड़ा शॉट खेलने के चक्कर में कैच आउट हो गए. अफगानी गेंदबाज फरीद अहमद ने इसके बाद आसिफ अली की तरफ आक्रामक अंदाज में जश्न मनाया. इसके बाद फरीद अहमद के जश्न मनाने के अंदाज से गुस्सा होकर पाकिस्तान के बल्लेबाज आसिफ अली ने पहले तो गेंदबाज तो धक्का दिया और फिर उसके बाद उसे अपना बल्ला भी दिखाया. आसिफ अली ने बल्ला उठाया तो अफगानिस्तान के दूसरे खिलाड़ियों ने बीच में आकर उनको रोका.