नोएडा के गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी पर चला बाबा का बुलडोजर, तोड़ा अवैध कब्जा

श्रीकांत त्यागी ने सोसायटी में सालों से अवैध कब्जा कर रखा है. इसको लेकर कई बार शिकायत भी की गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई.

Baba's bulldozer on Noida's abusive leader Shrikant Tyagi, broke illegal possession
Baba's bulldozer on Noida's abusive leader Shrikant Tyagi, broke illegal possession
इस खबर को शेयर करें

नोएडा। नोएडा का फरार गालीबाज नेता श्रीकांत त्यागी के अवैध निर्माण पर कार्रवाई की तैयारी में प्रशासन जुट गया है. इसके लिए ओमैक्स सोसायटी के बाहर बुलडोजर पहुंच गया है. प्राधिकरण की टीम बुलडोजर और लेबर के साथ मौके पर पहुंच चुकी है और कार्रवाई शुरू कर दी है. बताया जा रहा है कि श्रीकांत त्यागी ने सोसायटी में सालों से अवैध कब्जा कर रखा है. इसको लेकर कई बार शिकायत भी की गई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. बता दें कि महिला से गालीगलौज के मामले में पुलिस ने श्रीकांत पर गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है. फिलहाल वह तीन दिन से फरार चल रहा है. वहीं जानकारी के अनुसार श्रीकांत त्यागी की लोकेशन पुलिस को उत्तराखंड में मिली है. अब पुलिस सीसीटीवी खंगालने के साथ ऋषिकेश-हरिद्वार में तलाशी अभियान तेज कर दिया है.

ओमेक्स सोसायटी में बवाल
वहीं ओमैक्स सोसायटी में रविवार देर रात डेढ़ दर्जन से अधिक उपद्रवियों ने घुसकर बवाल किया. इसके बाद घटना से नाराज लोगों ने नोएडा पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और हंगामा किया. वहीं सूचना पर मौके पर पहुंचे सांसद महेश शर्मा ने नाराजगी जताते हुए कहा कि मुझे शर्मिंदगी महसूस रही है कि हमारी सरकार है. उन्होंने पुलिस को कहा कि पता करिए 15 लड़के सोसाइटी में कैसे घुसे, इससे बड़ी शर्म की बात नहीं हो सकती है. वहीं इस मामले में बड़ी कार्रवाई करते हुए नोएडा पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह ने थाना फेस टू के प्रभारी को सस्पेंड कर दिया है.

क्या है श्रीकांत त्यागी का विवाद
श्रीकांत त्यागी पर नोएडा में एक महिला से दुर्व्यवहार और मारपीट करने का आरोप लगा है. श्रीकांत ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के किसान मोर्चा का सदस्य होने का दावा किया है और सोशल मीडिया पर वरिष्ठ नेताओं के साथ उनकी तस्वीरें भी सामने आयीं, लेकिन मामले के बाद से पार्टी की स्थानीय इकाई ने उनसे दूरी बना ली है. यह घटना हाल में नोएडा के सेक्टर-93 बी में स्थित ग्रैंड ओमैक्स सोसाइटी में हुई. त्यागी यहां पौधरोपण करना चाहते थे, लेकिन महिला ने नियमों के उल्लंघन का हवाला देते हुए इसका विरोध किया. हालांकि, नेता ने दावा किया कि ऐसा करना उनका अधिकार है. इस घटना के कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए हैं, जिनमें से एक में त्यागी महिला के खिलाफ कथित तौर पर अपशब्द का इस्तेमाल करते दिख रहे हैं.