यूपी में भीषण गर्मी को लेकर आई बुरी खबर, इस तारीख तक नहीं मिलेगी राहत

झुलसाने वाली लू का जनजीवन पर बड़ा असर पड़ रहा है। धूप के कहर के चलते लोगों का अपने घरों से बाहर निकलना दूभर हो गया है। सोमवार को रविवार के मुकाबले थोड़ी राहत जरूर मिली लेकिन पश्चिमी यूपी के मेरठ समेत सभी जिले में अधिकतम तापमान 42.0 डिग्री और न्यूनतम 25.4 रहा।

Bad news about scorching heat in UP, relief will not be available till this date
Bad news about scorching heat in UP, relief will not be available till this date
इस खबर को शेयर करें

मेरठ। झुलसाने वाली लू का जनजीवन पर बड़ा असर पड़ रहा है। धूप के कहर के चलते लोगों का अपने घरों से बाहर निकलना दूभर हो गया है। सोमवार को रविवार के मुकाबले थोड़ी राहत जरूर मिली लेकिन पश्चिमी यूपी के मेरठ समेत सभी जिले में अधिकतम तापमान 42.0 डिग्री और न्यूनतम 25.4 रहा।

भारतीय कृषि प्रणाली अनुसंधान के मौसम वैज्ञानिक डॉ. एन. सुभाष का कहना है कि दिन का तापमान समान्य से पांच डिग्री ज्यादा रहा है। उन्होंने बताया कि अभी मौसम का मिजाज 9 जून तक यूं ही गर्म रहेगा। इसके बाद 10 और 11 जूल को धूल भरी आंधी के साथ बूंदाबांदी के आसार हैं। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो जून माह के अंतिम सप्ताह में ही मानसून पश्चिमी यूपी तक पहुंचने के आसार हैं। इसके बाद ही गर्मी से राहत मिलेगी। अगले कुछ दिन सूरज की तपिश और गर्म हवाओं से राहत नहीं मिलने वाली है। तस्वीरों में देखें गर्मी का जनजीवन पर असर।

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि 10 जून से पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने की वजह से धूल भरी आंधी चलने के आसार नजर आ रहे हैं हैं। कुछ इलाकों में बूंदाबांदी भी हो सकती है। मौसम वैज्ञानिक डॉ. एन सुभाष का कहना है कि पिछले एक सप्ताह से दिन का तापमान सामान्य से अधिक बना हुआ है।

कृषि विश्वविद्यालय के मौसम वैज्ञानिक डॉ. यूपी शाही का कहना है कि पश्चिमी यूपी में मानसून 25 से 30 जून के बीच दस्तक देगा। गर्मी का जनजीवन पर व्यापक असर पड़ रहा है। दोपहर में बाजारों में ग्राहक नहीं पहुंच रहे हैं।

घरों में एसी, कूलर की वजह से बिजली के बिल बढ़ गए हैं। बिजली कटौती से भी लोग परेशान हैं। राहत पाने के लिए शाम के समय लोग पार्कों में काफी समय बिता रहे हैं। वहीं मेरठ में सोमवार को प्रदूषण में थोड़ी राहत मिली और वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई)191 दर्ज किया गया।

बिजली कई इलाकों में प्रत्येक दो घंटे में 15- 20 मिनट तक कट रही है। शहर के कई इलाकों में दिन में ही नहीं बल्कि रात्रि में भी बिजली कटौती हो रही है। कई इलाके ऐसे भी हैं जहां पर लो वोल्टेज के कारण पंखे नहीं घूम रहे। देहात में नलकूप ठीक से नहीं चल पा रहे हैं।

मेरठ और आसपास के जनपदों का एक्यूआई भी फिर तेजी से बढ़ता जा रहा है। लगातार बढ़ते प्रदूषण के कारण लोग परेशान हैं। रविवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 251 दर्ज किया गया है।