पूरी दुनिया में इस्लाम को बडा झटका, दुबई में बनकर तैयार हुआ हिन्दू मंदिर, कटटरपंथियों में हाहाकार

Hindu temple in Dubai: भारत में हिन्दुओं की बड़ी आबादी रहती है और यहां देश के कोने-कोन में मंदिर स्थित हैं. लेकिन सोशल मीडिया पर आजकल मुस्लिम देश संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates) के दुबई में बनकर तैयार हिन्दू मंदिर की चर्चा जोरों पर है और इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी हैं.

Big blow to Islam all over the world, Hindu temple built in Dubai, outcry among fundamentalists
Big blow to Islam all over the world, Hindu temple built in Dubai, outcry among fundamentalists
इस खबर को शेयर करें

Hindu temple in Dubai: भारत में हिन्दुओं की बड़ी आबादी रहती है और यहां देश के कोने-कोन में मंदिर स्थित हैं. लेकिन सोशल मीडिया पर आजकल मुस्लिम देश संयुक्त अरब अमीरात (United Arab Emirates) के दुबई में बनकर तैयार हिन्दू मंदिर की चर्चा जोरों पर है और इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो चुकी हैं. इस मंदिर में 16 देवी-देवताओं की मूर्तियां हैं और आने वाले दिनों में यह मंदिर यूएई में आयोजित होने वाले हिन्दू कार्यक्रमों का केंद्र साबित होगा. इस मंदिर (Hindu temple) में सफेद संगमरमर से तैयार किया गया है और भारत के ही किसी मंदिर की तरह खूबसूरत नक्काशी से सजाया गया है. दुबई का यह भव्य मंदिर 5 अक्टूबर से आम जनता के लिए खोल दिया जाएगा.

दशहरे पर खुल जाएगा मंदिर

‘खलीज टाइम्स’ की रिपोर्ट के मुताबिक मंदिर में एक कम्युनिटी सेंटर, धर्मशाला और लाइब्रेरी स्थित है. सिंधु गुरु दरबार मंदिर के ट्रस्टी राजू श्रॉफ ने बताया कि मंदिर 5 अक्टूबर को मनाए जाने वाले प्रमुख हिंदू त्योहार दशहरा के दिन आधिकारिक तौर पर जनता के लिए खोल दिया जाएगा. यह हिंदू मंदिर दुबई के जेबेल अली में बनकर तैयार हो चुका है. इस इलाके में पहले से ही सिख गुरुद्वारा, एक हिंदू मंदिर और कई ईसाई चर्च मौजूद हैं. मंदिर के ओपनिंग सेरेमनी में संयुक्त अरब अमीरात की सरकार के अधिकारी और गणमान्य लोग मौजूद रहने वाले हैं. साथ ही उस दिन धार्मिक अनुष्ठान आयोजित करने का भी प्लान है.

मंदिर समिति के सदस्य अशोक कुमार ओधरानी ने कहा पहले फेज में मंदिर खुलने के बाद दूसरे फेज में मकर संक्रांति के दिन जनता के लिए मंदिर के नॉलिज रूम और कम्युनिटी सेंटर को खोला जाएगा. इसके अलावा, मंदिर के श्रद्धालु यहां शादी, हवन और निजी कार्यक्रमों का भी आयोजन कर सकते हैं. ओधरानी ने कहा कि मंदिर में आम तौर पर हजार से 1,200 श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद है. हालांकि, महत्वपूर्ण हिंदू त्योहारों के दौरान संख्या बहुत ज्यादा हो सकती है. उन्होंने उम्मीद जताई कि अबू धाबी के लोग भी वीकेंड पर यहां आएंगे. मंदिर में सुरक्षा के लिए लिहाज से क्यूआर कोड आधारित सिस्टम लगाया गया है और सितंबर से मंदिर दर्शन के लिए बुकिंग की सुविधा शुरू हो जाएगी.

मंदिर को लेकर छिड़ी बहस

यूएई के स्थानीय निवासी हसन सजवानी ने इस भव्य मंदिर की तस्वीरें ट्विटर पर शेयर की हैं. इन फोटोज को देखने के बाद लोग इस मंदिर की भव्यता की तारीफ कर रहे हैं. साथ ही यूएई में मंदिर निर्माण से काफी खुश भी हैं. हालांकि कुछ कट्टरपंथी मंदिर की फोटोज पर अपना गुस्सा भी जाहिर कर रहे हैं और यूएई सरकार की आलोचना कर रहे हैं. सजवानी के ट्वीट को 8 हजार से ज्यादा रीट्वीट मिल चुके हैं जबकि 50 हजार के करीब यूजर्स ने इसे लाइक किया है.

आधिकारिक उद्घाटन के बाद मंदिर में दीवाली और नवरात्रि जैसे प्रमुख हिन्दू त्योहारों पर समारोह आयोजित किए जाएंगे. इसके लिए मंदिर में एक बड़ा सा रसोईघर और स्टोर रूम बनाया गया है. कम्युनिटी हॉल और नॉलेज रूम के अंदर कई एलसीडी स्क्रीन भी लगाई जाएंगी ताकि दर्शन के लिए आए लोग वहां कार्यक्रमों का टेलीकास्ट देख सकें. सफेद संगमरमर वाले मंदिर में 9 ऊंचे शिखर और दस्तकारी की मूर्तियां लगाई गई हैं. साथ ही लकड़ी के दरवाजों पर घंटियों, हाथियों और फूलों की डिजायन उकेरी गई है. इस मंदिर में दक्षिण भारतीय देवताओं के अलावा भगवान गणेश, कृष्ण, महालक्ष्मी और दक्षिण भारतीय देवता अय्यप्पन को भी प्रार्थना कक्ष में स्थापित किया गया है.