10 सालों में बैंकिंग सेक्टर में हुआ बड़ा बदलाव, मुनाफा 3 लाख करोड़ के पार, गदगद हुए पीएम मोदी

Big changes took place in the banking sector in 10 years, profit crossed Rs 3 lakh crore, PM Modi became proud
Big changes took place in the banking sector in 10 years, profit crossed Rs 3 lakh crore, PM Modi became proud
इस खबर को शेयर करें

Banking Sector Net Profit: एक ओर जहां दुनिया की महाशक्तियां आर्थिक मंदी का दबाव झेल रही है, वहीं दूसरी ओर भारत की अर्थव्यवस्था तेज रफ्तार से भाग रही है. भारत की इकॉनमी को लेकर रेटिंग एजेंसियों से लेकर आईएमएफ की ओर से पॉजिटिव संकेत मिल रहे हैं. वहीं भारतीय बैंकिंग सेक्टर को लेकर गुड न्यूज सामने आई है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर 10 साल में भारतीय बैंकिंग सेक्टर की बदली तस्वीर की बात कही है.

बैंकिंग सेक्टर ने रचा इतिहास

भारतीय बैंकिंग सेक्टर ने पहली बार वित्त वर्ष 2023-24 में 3 लाख करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया है. सार्वजनिक और निजी क्षेत्र के लिस्टेड बैंकों का नेट प्रॉफिट 39% बढ़कर 3.1 लाख करोड़ रुपये के पार हो गया. वहीं वित्त वर्ष 2023 के बैंकों का शुद्ध लाभ 2.2 लाख करोड़ रुपये रहा था. जहां निजी सेक्टर के बैंकों ने 1.4 लाख करोड़ रुपये का शुद्ध लाभ कमाया तो वहीं निजी सेक्टर के बैंकों ने 1.7 लाख करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया.

10 सालों में बदली भारतीय बैंकों की तस्वीर

पीएम मोदी ने बैंकिंग सेक्टर के रिकॉर्ड मुनाफे को लेकर ट्वीट करते हुए लिखा कि बीते 10 सालों में भारत के बैंकिंग सेक्टर में अभूतपूर्व बदलाव देखने को मिले हैं. उन्होंने लिखा कि एनडीए सरकार के सत्ता में आने से पहले भारतीय बैंक भारी NPA के दवाब से दबे हुए थे. भारत के बैंक यूपीए की फोन-बैंकिंग नीति के चलते भारी घाटे और अधिक एनपीए से जूझ रहे थे. गरीबों के लिए बैंकों के दरवाजे बंद कर थे. उन्होंने कहा कि भारतीय बैंकों की सेहत में हुआ ये सुधार गरीबों, किसानों और एमएसएमई को आसान लोन उपलब्ध कराने में मदद करेगा. बता दें कि निजी सेक्टर के साथ अब भारत के पब्लिक सेक्टर के बैंकों की स्थिति में सुधार हुआ है. सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों का शुद्ध मुनाफा बढ़ा है.