मध्यप्रदेश में गेहूं खरीदी में बड़ा घोटाला! गायब हो गए 13 ट्रक गेहूं, अब राज्य सरकार ने लिया बड़ा एक्शन

Big scam in wheat purchase in Madhya Pradesh! 13 trucks of wheat went missing, now the state government took major action
Big scam in wheat purchase in Madhya Pradesh! 13 trucks of wheat went missing, now the state government took major action
इस खबर को शेयर करें

भोपाल। मध्यप्रदेश में विंध्य क्षेत्र के सतना जिला में किसानों की गेहूं खरीदी में बड़ा गड़बड़झाला सामने आया है। मामले में अब राज्य सरकार (state government) द्वारा बड़ा एक्शन लिया गया है। खरीदी में गड़बड़ी करने वाले जिला प्रबंधक अमित गौड़ को निलंबित कर दिया है। जानकारी के अनुसार, गेहूं खरीदी में 13 ट्रक गेहूं गायब होने की जांच के बाद FIR दर्ज की गई थी और अब राज्य सरकार ने संज्ञान लिया है।

मध्यप्रदेश में विंध्य क्षेत्र के सतना जिला में किसानों की गेहूं खरीदी में बड़ा गड़बड़झाला सामने आया है। मामले में अब राज्य सरकार द्वारा बड़ा एक्शन लिया गया है। खरीदी में गड़बड़ी करने वाले जिला प्रबंधक अमित गौड़ को निलंबित कर दिया है। जानकारी के अनुसार, गेहूं खरीदी में 13 ट्रक गेहूं गायब होने की जांच के बाद FIR दर्ज की गई थी और अब राज्य सरकार ने संज्ञान लिया है।

यह पूरा खेल नियम विरुद्ध तरीके से स्वीकृत किए गए खरीदी केंद्र द्वारा किया गया है। इस केन्द्र से पहले 13 ट्रक गेहूं की खरीदी दिखाते हुए रेडी टू ट्रांसपोर्ट किया गया। इसके बाद टीसी काट कर इन ट्रकों को कोटर तहसील के लखनवाह स्थित एमपी वेयर हाउसिंग के गोदाम में जमा करने का आदेश दिया गया। ये ट्रक खरीदी केन्द्र से वेयर हाउस पहुंचते, इससे पहले ही खेल शुरू हो जाता है। अचानक से टीसी के ऑर्डर में बदलाव किया जाता है।

आदेश में बदलाव कर वेयर हाउसिंग के गोदाम से टीसी को डायवर्ट कर रेलवे रैक प्वाइंट कर दिया जाता है। इस बदलाव के बाद ट्रकों को गेहूं लोड कर रेलवे रैक प्वाइंट पहुंचाना होगा। लेकिन बिना एक दाना पहुंचे, कागजों में अनलोड कर दिया गया। वेयर हाउस से रैक प्वाइंट के लिए डायवर्ट किया गया गेहूं कागजों में रेलवे रैक प्वाइंट पहुंच जाता है। इसके बाद केवल कागजों पर इस गेहूं की जांच होती है और गेहूं को रैक प्वाइंट पर उतार दिया जाता है। इस काल्पनिक गेहूं को नान के सर्वेयर द्वारा स्वीकृत कर दिया जाता है।