मुजफ्फरनगर में बाइक चोरी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, दो गिरफ्तार, आधा दर्जन वाहन बरामद

इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। शनिवार को शहर कोतवाली पुलिस ने दुपहिया वाहन चोरी करने वाले गैंग का खुलासा करते हुए दो वाहन चारों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। पुलिस ने पकड़े गये बदमाशों के कब्जे से चोरी की पांच बाइक, एक स्कूटी, दो नम्बर प्लेट व एक अवैध चाकू भी बरामद किया है।

शनिवार को शहर कोतवाली पुलिस ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संजीव सुमन के निर्देशन में अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत एसपी सिटी सत्यनारायण प्रजापत के पर्यवेक्षक एवं क्षेत्राधिकारी नगर रामाशीष यादव एवं प्रभारी निरीक्षक महावीर सिंह चैहान के नेतृत्व में उप निरीक्षक जितेंद्र कुमार, हेड कांस्टेबल अशोक खारी, हेड कांस्टेबल अनिल कुमार, हेड कांस्टेबल शिव ओम भाटी, हेड कांस्टेबल गौरव चैधरी, कांस्टेबल सचिन कुमार, कांस्टेबल मोहम्मद इशफाक, कांस्टेबल जितेंद्र कुमार एवं कांस्टेबल देवेंद्र सिंह की टीम ने रुड़की रोड स्थित शेरपुर चुंगी पर उक्त दोनों बदमाश किसी घटना को अंजाम देने की फिराक में खड़े थे।

पूछताछ करने पर दोनों ने भागने की कोशिश की, लेकिन उनकी कोशिश को नाकाम करते हुए पुलिस ने दोनों को धर दबोचा। पूछताछ करने पर पकड़े गये बदमाशों ने बताया कि गत 30 नवम्बर को नंबर दो चुंगी पंचमुखी मार्ग से उन्होंने एक स्कूटी चुरा थी। पुलिस ने बताया कि इस चोरी का मुकदमा शहर कोतवाली में दर्ज कराया गया था। इसके बाद वाहन चोरों की धरपकड़ के लिए पुलिस टीम का गठन किया गया था, जिसके बाद से पुलिस लगातार चेकिंग अभियान चलाकर ऐसे गिरोह का पर्दाफाश करने में लगी थी।

इसी कड़ी में शुक्रवार रात्रि दोनों बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में अपना नाम साहिल पुत्र काले निवासी सेक्टर 12 आरटीओ ऑफिस के पास शास्त्री नगर थाना नौचंदी मेरठ तथा रिहान पुत्र आमिर निवासी सर्राफा बाजार थाना कोतवाली नगर मेरठ बताने वाले वाहन चोरों के कब्जे से पुलिस ने एक एक्टिवा स्कूटी के अलावा पांच हीरो स्प्लेंडर बाइक बरामद की है।

वाहन चोरों के कब्जे से दो नंबर प्लेट तथा एक चाकू भी बरामद किया है। पुलिस द्वारा की गई पूछताछ में दोनों चोरों ने बताया है कि वह पहले अलग-अलग जनपदों में जाकर लाभ कमाने के लिए मोटरसाइकिल एवं स्कूटी चोरी करने की भूमिका तैयार करते हैं। फिर मुख्य रास्तों को छोड़कर और सीसीटीवी कैमरों से बचते हुए शाम के अंधेरे में बाइक एवं स्कूटी आदि वाहन चोरी कर लेते हैं। चोरी करने के बाद वाहन की नंबर प्लेट बदल देते हैं।

पकड़े जाने से बचने के लिए लगातार वह अपनी जगह बदलते रहते हैं। बदमाशों ने बताया कि वें पहले भी र्कइं जनपदों में जाकर वाहन चोरी की घटनाओं को अंजाम देते है और मुख्य रास्तों व सीसीटीवी कैमरो से बचकर अंधेरे में वाहन चोरी की घटनाओं को अंजाम देते हैं।

पुलिस ने सुसंगत धाराओं में दोनों चोरों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने के बाद दोनों को जेल भेज दिया है। पुलिस द्वारा की गई छानबीन में दोनों वाहन चोरों के खिलाफ जनपद मुजफ्फरनगर एवं मेरठ में विभिन्न मुकदमे दर्ज मिले हैं।