मध्य प्रदेश में भाजपा ने फिर चौंकाया, मोहन यादव को बनाया सीएम, जानें कौन है ये नेता

BJP again surprised in Madhya Pradesh, made Mohan Yadav the CM, know who is this leader
इस खबर को शेयर करें

भोपाल। Mohan Yadav। भाजपा विधायक दल की बैठक में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री का एलान हो गया। मोहन यादव को मध्य प्रदेश का नया मुख्यमंत्री बनाने का एलान हुआ। वो दक्षिण उज्जैन से विधायक हैं और शिवराज सरकार में उच्च शिक्षा मंत्री रह चुके हैं।

जानकारी के मुताबिक, नरेंद्र सिंह तोमर को विधानसभा का स्पीकर बनाया जाएगा। राजेंद्र शुक्‍ल और जगदीश देवड़ा डिप्‍टी सीएम होंगे।

क्या एमपी में भी सीएम का होगा नया चेहरा?
छत्तीसगढ़ के में आदिवासी नेता विष्णुदेव साय को मुख्यमंत्री बनाया जाएगा। विष्णुदेव साय के मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद इस बात को लेकर काफी चर्चा चल रही है कि क्या एमपी में भी पार्टी किसी नए चेहरे को राज्य की जिम्मेदारी सौंपने वाले हैं या शिवराज सिंह चौहान जैसे दिग्गज नेता को एक बार फिर राज्य का मुखिया बनाया जाएगा।

एमपी में होने वाले विधायक दल की बैठक से जुड़ी हर अपडेट्स यहां जानें–
भाजपा कार्यालय में विधायकों के ग्रुप फोटो सेशन के बाद विधायक दल की बैठक शुरू हो चुकी है।

भाजपा कार्यालय के बाहर लग रहे मोदी और शिवराज के नारे
मध्य प्रदेश में भाजपा कार्यालय के बाहर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और शिवराज सिंह चौहान के समर्थन में नारे लग रहे।

विधायकों का कार्यालय में हो रहा जोरदार स्वागत
भाजपा कार्यालय पहुंचने वाले सभी विधायकों का तिलक लगाकर स्वागत किया जा रहा है। इसके साथ ही विधायकों का डिजिटल रजिस्ट्रेशन भी किया जा रहा है।

प्रह्लाद सिंह पटेल Prahlad Singh patel के घर की सुरक्षा बढ़ाई गई
भोपाल में भाजपा कार्यालय में मध्य प्रदेश के लिए सीएम का चेहरा चुनने के लिए पर्यवेक्ष और भाजपा विधायक पहुंच गए हैं। इस बीच प्रह्लाद सिंह पटेल के घर के बाहर पुलिस ने सुरक्षा बढ़ा दी है। इससे ऐसा माना जा रहा है कि वे सीएम पद की रेस में सबसे आगे हैं।

प्रह्लाद सिंह पटेल का अब तक का सफर
नरसिंहपुर से विधायक प्रहलाद सिंह पटेल का रातनीतिक सफर कई उतार-चढ़ाव के दौर से गुजरा है। नरसिंहपुर के 2,32,324 मतदाताओं के साथ भाजपा के पदधिकारियों ने प्रहलाद सिंह पटेल पर विश्‍वास जताया है। नरसिंहपुर जिले में सबसे कड़ा मुकाबला नरसिंहपुर विधानसभा सीट पर रहा जहां से प्रहलाद सिंह पटेल उम्‍मीदवार रहे। इनके समक्ष कांग्रेस के लाखन सिंह पटेल से मुकाबला था। लाखन सिंह अनेक नेताओं की तरह ब्रह्मलीन स्वामी स्वरूपानंद के शिष्यों में शामिल हैं।