गुजरात में PM मोदी की सुरक्षा में हुई सेंधमारी? NSG ने रैली स्थल के पास संदिग्ध ड्रोन को मार गिराया

गुजरात पुलिस के सूत्रों ने CNN-News18 को बताया कि राज्य में चुनावी दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में सेंध लगने का मामला सामने आया है.

Breach in PM Modi's security in Gujarat? NSG shoots down suspected drone near rally site
Breach in PM Modi's security in Gujarat? NSG shoots down suspected drone near rally site
इस खबर को शेयर करें

अहमदाबाद: गुजरात पुलिस के सूत्रों ने CNN-News18 को बताया कि राज्य में चुनावी दौरे पर आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में सेंध लगने का मामला सामने आया है. यह रिपोर्ट चुनावी राज्य में राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (NSG) के जवानों द्वारा एक अनधिकृत ड्रोन को कथित तौर पर मार गिराए जाने के बाद आई है. इस ड्रोन को बावला में पीएम के रैली स्थल के पास देखा गया था. सूत्रों ने बताया कि मामले की जांच राज्य और केंद्र की एजेंसियों ने शुरू कर दी है. उन्होंने कहा कि ड्रोन में कुछ भी नहीं मिला, लेकिन पुलिस को यह पता लगाना होगा कि इसे क्यों उड़ाया गया था. सूत्रों ने बताया कि घटना गुरुवार शाम करीब 4:30 बजे हुई और एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है.

प्रधानमंत्री मोदी गुजरात में भाजपा के प्रचार अभियान का नेतृत्व कर रहे हैं. उन्होंने गुरुवार को सुबह 11 बजे से पालनपुर, मोडासा, दहेगाम और बावला (अहमदाबाद) में 4 रैलियों को संबोधित किया. सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक, पीएम मोदी ने मंगलवार को 1 दिन के ब्रेक के बाद बुधवार को दाहोद, मेहसाणा, वडोदरा और भावनगर में रैलियों को संबोधित किया था. इस साल 5 जनवरी को, पंजाब में एक फ्लाईओवर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के काफिले को काफी दे रुकना पड़ा था. कुछ प्रदर्शनकारियों द्वारा कथित रूप से पीएम का रूट अवरुद्ध किए जाने के बाद चिंतित सुरक्षा अधिकारियों की तस्वीरें वायरल हुईं.

वास्तव में, प्रधानमंत्री को पंजाब के फिरोजपुर में एक रैली को संबोधित करने हेलीकॉप्टर से जाना था, लेकिन खराब मौसम के कारण उन्हें सड़क मार्ग से यात्रा करनी पड़ी थी. इस दौरान कुछ प्रदर्शनकारी उनके काफिले के रास्ते में आ गए थे. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने मामले को बहुत गंभीरता से लेते हुए पंजाब के डीजीपी को नोटिस जारी किया था. पीएम मोदी की सुरक्षा में इस सेंधमारी की जांच के लिए नियुक्त सुप्रीम कोर्ट की एक समिति ने फिरोजपुर एसएसपी पर पर्याप्त सुरक्षाबल होने के बावजूद अपने कर्तव्य का निर्वहन करने में विफल रहने का आरोप लगाया. दरअसल, ये प्रदर्शनकारी कृषि कानूनों को लेकर पीएम मोदी के दौरे का विरोध कर रहे थे, जिन्हें केंद्र सरकार ने पहले ही वापस ले लिया था.