बिहार से फरार ‘बंटी-बबली’ चलती ट्रेन से गिरफ्तार, 30 करोड़ के गबन का है आरोप

पूछताछ में इन दोनों ने फरार होने के बाद से नई दिल्‍ली में रहने की बात कबूल की है. आरपीएफ (RPF) ने इस दंपत्ति को बिहार पुलिस को सुपुर्द कर दिया है.

'Bunty-Babli' absconding from Bihar arrested from moving train, accused of embezzlement of 30 crores
'Bunty-Babli' absconding from Bihar arrested from moving train, accused of embezzlement of 30 crores
इस खबर को शेयर करें

Gorakhpur News: अगर आप अपने जीवन भर की कमाई किसी एजेंट पर विश्वास कर बैंक और डाकघर में जमा कर रहे हैं, तो सावधान हो जाएं. क्योंकि आपकी उम्मीदों पर विश्वास का खंजर घोंपकर कोई आपकी जीवन भर की कमाई लेकर फरार हो सकता है. गोरखपुर की आरपीएफ (रेलवे सुरक्षा बल) ने एक ऐसे ही आरोपी बंटी-बबली (दंपत्ति) को नई दिल्ली से न्यू जलपाईगुड़ी जा रही चलती ट्रेन से गिरफ्तार किया है. जो बिहार में 30 करोड़ का गबन कर साल भर से फरार रहे हैं. इन लोगों ने रिटायर्ड प्रोफेसर के 70 लाख रुपए सहित अनेक लोगों को अपना शिकार बनाया.

क्या है पूरा मामला?
पूछताछ में इन दोनों ने फरार होने के बाद से नई दिल्‍ली में रहने की बात कबूल की है. आरपीएफ (RPF) ने इस दंपत्ति को बिहार पुलिस को सुपुर्द कर दिया है. जो उन्हें लेकर बिहार (Bihar) के छपरा के लिए रवाना हो गए हैं. गोरखपुर (Gorakhpur) के आरपीएफ (रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स) इंस्पेक्टर राजेश कुमार सिन्‍हा (Rajesh Kumar Sinha) ने बताया कि इन दोनों आरोपियों को चलती ट्रेन से गिरफ्तार किया गया है. इनके खिलाफ बिहार के छपरा में 30 करोड़ रुपए का गबन कर फरार हो जाने का आरोप है.

सैकड़ों लोगों को बनाया शिकार
इंस्पेक्टर राजेश कुमार सिन्‍हा ने बताया कि लोगों को काफी विश्वास होने की वजह से डाकघर के एजेंट के रूप में काम करने वाले धीरज अग्रवाल और उसकी पत्नी सैकड़ों लोगों का रुपया डाकघर में जमा करते रहे. पहले तो वे सही काम करते रहे. इसके बाद लोगों का रुपया जमा करने के नाम पर फर्जी रसीद देने लगे. इस तरह इन लोगों ने रिटायर्ड प्रोफेसर के 70 लाख रुपए सहित अनेक लोगों को अपना शिकार बनाया.