बुजुर्गों की खुल गई किस्मत, अब हर महीना मिलेगी इतने हजार रुपये पेंशन, जान लें जरूरी शर्तें

Share this news

नई दिल्लीः कोरोना वायरस संक्रमण महामारी में आम जिंदगी से लेकर उद्योग जगत तक को भारी आर्थिक नुकसान हुआ है, जिसे पूरा करने को हर कोई जीतोड़ मेहनत कर रहा है। अब कोरोना वायरल संक्रमण की रफ्तार धीमी जरूर हुई, लेकिन खतरा अभी भी टला नहीं है।

यहां कोविड से संबधित सभी नए अपडेट पढ़ें
केंद्र व राज्य सरकारें भी लोगों को राहत देने के लिए मदद का हाथ बढ़ा रही हैं, लेकिन स्थिति जस का तस बनी हुई है। इस बीच अगर आप पीएम किसान सम्मान निधि के लाभार्थी हैं तो यह खबर आपके बड़े ही काम आने वाली है।

सरकार पीएम श्रम योगी मानधन योजना संगठित क्षेत्र के मजदूरों के लिए एक बेहतर योजना है। इस योजना के तहत रेहड़ी-पटरी लगाने वाले, रिक्शा चालक, निर्माण कार्य करने वाले मजदूर और इसी तरह के अनेक अन्य कार्यों में लगे असंगठित क्षेत्र से जुड़े मजदूरों को अपना बुढ़ापा सुरक्षित करने में सहायता मिलेगी। इस योजना के तहत रोजाना बस 2 रुपये बचाकर सालाना 36000 रुपये की पेंशन ले सकते हैं।

वहीं, इस योजना को शुरू करने पर आपको हर माह 55 रुपये जमा करना होंगे। 18 वर्ष की उम्र वाले रोजाना करीब 2 रुपये बचाकर आप सालाना 36000 रुपये की पेंशन पा सकते हैं। अगर कोई व्यक्ति 40 साल की उम्र से इस स्कीम को शुरू करेगा तो हर महीने 200 रुपये जमा करना होंगे।

60 साल की उम्र पूरा होने के बाद पेंशन के रूप में 3000 रुपये महीना मिलने शुरू हो जाएंगे यानि 36000 रुपये साल मिलेंगे। वहीं, इस योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास सेविंग बैंक अकाउंट और आधार कार्ड होना आवश्यक है। व्यक्ति की उम्र 18 साल से कम और 40 साल से ज्यादा नहीं होनी चाहिए।

इसके लिए आपको योजना के लिए कॉमन सर्विस सेंटर में पंजीकरण करवाना होगा। CSC सेंटर में पोर्टल पर श्रमिक अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। सरकार ने इस योजना के लिए वेब पोर्टल बनाया है। इन सेंटर्स के जरिये ऑनलाइन सभी जानकारी भारत सरकार को चली जाएगी।

वहीं, पंजीकरण के लिए आपको अपना आधार कार्ड, बचत या जनधन बैंक खाते की पासबुक, मोबाइल नंबर चाहिए होगा। इसके अलावा सहमति पत्र देना होगा जो बैंक ब्रांच में भी देना होगा जहां पर श्रमिक का बैंक खाता होगा, ताकि उसके बैंक खाते से समय से पेंशन के लिए पैसा काटा जा सके।