ऐक्शन में CM शिवराज की मध्य प्रदेश पुलिस; पुलिसवालों की हत्या करने वाले चार शिकारी ढेर

मध्य प्रदेश पुलिस ने पहले आरोपी नौशाद खान, और फिर उसके बाद उसका भाई और मुख्य आरोपी शहजाद खान को एनकाउंटर में मार गिराया। उसके बाद रात में पुलिस ने एक और आरोपी को भी एनकाउंटर में ढेर कर दिया।

इस खबर को शेयर करें

गुना। मध्य प्रदेश के गुना जिले में शिकारियों और पुलिस के साथ हुई मुठभेड़ में इस समय पूरी सरकार अलर्ट मोड पर है। यही वजह है कि घटना के बाद से ही पुलिस ने एक के बाद एक आरोपियों का एनकाउंटर करना शुरू कर दिया है। पुलिस ने पहले आरोपी नौशाद खान, और फिर उसके बाद उसका भाई और मुख्य आरोपी शहजाद खान को एनकाउंटर में मार गिराया। उसके बाद रात में तीसरे आरोपी को भी एनकाउंटर में ढेर कर दिया। बताया जा रहा है कि देर रात पुलिस को सूचना मिली की आरोन की पहाड़ियों में दो आरोपी छिपकर बैठे हैं, जिसके बाद वहां पहुंचकर पुलिस ने उन्हें मार गिराया। पुलिस ने अभी तीसरे आरोपी के नाम का खुलासा नहीं किया है।

बता दें कि इस घटना के आरोपियों की धरपकड़ के लिए पुलिस की एक दर्जन से अधिक टीमें जंगलों की खाक छान रही हैं। इस पूरे घटनाक्रम पर खुद प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा सहित पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी नजर बनाए हुए हैं। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, इस घटना के मुख्य आरोपी शहजाद ने पुलिस की टीम पर हमला किया था और अपनी लाइसेंसी बंदूक से गोलियां चलाई थीं। पुलिस ने जिस आरोपी नौशाद खान और मुख्य आरोपी शहजाद खान का एनकाउंटर किया है, वे दोनों सगे भाई हैं। इन दोनों ने ही पुलिस पर गोलियां चलाई थीं।

यह बोला आरोपी का पिता
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी नौशाद खान के पिता निसार खान ने बताया है कि शनिवार को आरोपी शहजाद खान की बेटी की शादी थी और देर रात तक घर में सभी सदस्यों ने नाच गाना किया और उसके बाद रात लगभग 10:00 बजे आरोपी शहजाद अपने छोटे भाई नौशाद और अन्य साथियों को लेकर जंगल में शिकार करने के लिए उतर गया। लेकिन रात में आरोन थाने की पुलिस वहां पहुंच गई और उसके बाद आरोपी शहजाद ने गोलियां चलाना शुरू कर दीं।

मामले में सात मुख्य आरोपी
मामले को लेकर स्थानीय पुलिस ने मीडिया से भी दूरी बनाई ली है। इसके साथ ही इस घटना की पूरी जानकारी खुद गृह मंत्रालय अपडेट कर रहा है। बताया जा रहा है इस घटना से जुड़े कुल 10 आरोपी है जिसमें 7 मुख्य आरोपी बताए जा रहे हैं।

भाजपा नेता ने लिखा ‘हिसाब बराबर’
गुना की घटना के बाद से पूरी सरकार ऐक्शन मोड में आ गई थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तत्काल आला अधिकारियों के साथ बैठक की थी। सूत्रों के मुताबिक, इस बैठक में शिवराज ने साफ निर्देश दिए थे कि किसी भी आरोपी को बख्सा ना जाए। इसबीत जब पुलिस ने एनकाउंटर शुरू किए तो मध्य प्रदेश भाजपा के प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद ने ‘हिसाब बराबर’ करने का ट्वीट कर डाला। हालांकि उन्होंने इस ट्वीट के साथ कुछ और नहीं लिखा है, लेकिन माना जा रहा है कि आरोपियों पर पुलिसिया कार्रवाई को लेकर ही यह ट्वीट किया गया है।