यूपी में गोलगप्पे को लेकर संग्राम, ताबड़तोड़ फायरिंग, बमबाजी से 13 लोग घायल

इस खबर को शेयर करें

कानपुर देहात। युवकों के बीच मामूली बात को लेकर बुधवार को हुए झगड़े ने दूसरे दिन गुरुवार को उग्र रूप ले लिया। दो गांवों के बीच बमबाजी व फायरिंग से दहशत का माहौल हो गया। गुरुवार शाम को रनियां के फतेहपुर रोशनाई गांव के लोगों ने बमबाजी और फायरिंग के साथ दुकानों में तोड़फोड़ की। दूसरे पक्ष के लोगों ने आर्यनगर प्रथम गांव के लोगों पर पथराव कर दिया। घटना का वीडियो बनाने के दौरान आर्यनगर के लोगों की बहस हुई और पथराव कर दिया।

इस पर घर की छत से परिवार के युवक ने आत्मरक्षा में लाइसेंसी बंदूक से दो राउंड फायर किया। कुछ लोगों को छर्रे लगे और वह जख्मी हुए। सीओ तनु उपाध्याय सर्किल का फोर्स लेकर पहुंचीं और बंदूक को कब्जे में लेने के बाद उनके परिवार की महिलाओं व बच्चों को सुरक्षित निकाला। इस दौरान पुलिस का एक वाहन रोकने का प्रयास किया गया। घटना में 13 लोग घायल हुए, जिनको सीएचसी में भर्ती कराया गया।

राजेंद्र चौराहे पर बुधवार शाम को गोलगप्पे के ठेले पर फतेहपुर रोशनाई गांव के नीलम के बेटे अर्पित व लकी गए थे। वहां पर पानी पीने को लेकर आर्यनगर प्रथम के दीपू, सुनील समेत अन्य ने मारपीट कर दी थी। नीलम ने आठ लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया था। इसी खुन्नस में गुरुवार शाम करीब छह बजे फतेहपुर रोशनाई गांव के लोग कई वाहनों से आर्यनगर प्रथम पहुंचे। गांव के लोगों की दुकानों में तोड़फोड़ शुरू कर दी।

लोग आवाज सुनकर बाहर आए तो सुतली बम चलाना शुरू कर दिया, इससे वहां भगदड़ मच गई। तमंचे से फायर भी किया गया। बवाल देख आर्यनगर के लोगों ने मोर्चा लिया और दोनों पक्षों में लाठी डंडे के साथ ही पथराव शुरू हो गया। सड़क पर भगदड़ मच गई। फतेहपुर गांव के लोग वहां से भाग निकले। इस दौरान वहीं के रहने वाले छोटेलाल गुप्ता के परिवार के लोग मोबाइल फोन से वीडियो बना रहे थे।

आर्यनगर के लोग इस पर विवाद करने लगे और उनकी परचून की दुकान में तोड़फोड़ शुरू कर दी व आगजनी का प्रयास किया। वह परिवार समेत अंदर भागे तो दरवाजा तोड़ने के साथ पथराव शुरू कर दिया। बचाव में उनके बेटे रविकांत गुप्ता ने छत पर चढ़कर बंदूक से दो राउंड फायर कर दिया। कई को गोली के छर्रे लगे और लोग भागने लगे। रवि के सिर में पत्थर लगा।

लोगों ने पुिलस वाहन रोकने का किया प्रयास
उपद्रव की जानकारी पर अकबरपुर, रनियां, गजनेर थाने का पुलिस बल लेकर सीओ तनु उपाध्याय पहुंचीं। लोगों ने पुलिस के वाहनों को रोकने का प्रयास किया तो समझाकर उनको हटाया गया। गोली का छर्रा लगने से दिव्यांशी, रोहिनी, एकता, अंकित सिंह, अंकिता घायल हो गईं, अन्य घायलों में रविकांत, पीयूष, प्रीति, बबली, सौरभ, रामजी, मान सिंह, सत्यम शामिल हैं। सभी को पुलिस ने सीएचसी अकबरपुर में भर्ती कराया।