Cyber Crime: अनजान वीडियो कॉल आए तो सतर्क रहें, आपने कॉल उठाया तो हो सकता है ये गंदा खेल!

Crime in Uttarakhand : पहले फेसबुक पर दोस्ती, फिर अश्लील वीडियो मैसेज और फिर साइबर ब्रांच पुलिस का खौफ दिखाकर पैसों की वसूली..! ये है उत्तराखंड में साइबर अपराध का नया पैंतरा, जिसने पुलिस व नेताओं के भी होश उड़ा दिए हैं. आखिर क्या है ये साज़िश और आपराधिक खेल?

Cyber Crime: Be alert if you get an unknown video call, if you pick up the call, it may be a dirty game!
Cyber Crime: Be alert if you get an unknown video call, if you pick up the call, it may be a dirty game!
इस खबर को शेयर करें

देहरादून. थाना पटेल नगर में एक केस दर्ज हुआ जिसमें एक पीड़िता ने पुलिस को बताया कि उसके नंबर पर कुछ दिनों से एक अनजान नंबर से वीडियो कॉल आ रहा था. एक दिन उसने कॉल उठाया तो एक लड़का अश्लील हरकतें करता दिखा और कुछ ही देर में उसने वही वीडियो भेज दिया. पीड़िता को बदनाम करने और वीडियो को वायरल करने की धमकी दी. दूसरे दिन एक और कॉल आया, जिसमें पीड़िता को क्राइम ब्रांच से कॉल होने और उस पर केस दर्ज करने की बात कही गई. ब्लैकमेलिंग की शिकार पीड़िता से ऐसे कॉल्स के ज़रिये 50 हजार रुपये तक ऐंठ लिये गए और यह डिमांड रुक नहीं रही. हद तो यह है कि एक नहीं, इस तरह के कई केस सामने आ रहे हैं.

दरअसल, साइबर ठग इन दिनों ब्लैकमेलिंग के नये तरीके ईजाद कर रहे हैं. फेसबुक पर किसी भी अनजान लड़की की फेक आईडी बनाकर दोस्ती की रिक्वेस्ट भेजी जाती है. फिर अश्लील मैसेज और वीडियो भेजकर या तो कॉल रिकार्ड किए जाते हैं या आपके फोटो को एडिट कर कोई अश्लील वीडियो बना दिया जाता है. जैसे ही आप इस जाल में फंसते हैं, वैसे ही ब्लैकमेलिंग का धंधा शुरू हो जाता है. अगर आप इस खेल में नहीं फंसते हैं, तो कहानी इसके आगे भी है.

ब्लैकमेलिंग के इस जाल में आप नहीं फंसते हैं, तो साइबर ठग आपको डराने के लिए एक और वीडियो कॉल करते हैं, जिसमें वर्दी में कोई शख्स खुद को पुलिस अधिकारी बताकर धमकाता है कि आपके खिलाफ मुकदमा दर्ज हो सकता है. कुल मिलाकर आप पर एक दबाव बनाया जाता है कि आप ब्लैकमेलर को उसकी मांगी रकम दें. हैरानी की बात यह भी है कि इस जाल में आम लोग ही नहीं, बल्कि नेता भी फंस रहे हैं!

इस तरह बनाया जा रहा है दबाव
ऐसे ही एक मामले में साइबर थाने देहरादून में केस दर्ज हुआ, जिसमें एक स्थानीय नेता ने पुलिस को बताया कि पहले धोखे से उसका अश्लील वीडियो बना लिया गया और अब दिल्ली क्राइम ब्रांच में उसी के खिलाफ केस दर्ज करने दबाव बनाया जा रहा है. इस मामले की छानबीन भी साइबर थाना पुलिस कर रही है. इससे भी ज़्यादा चिंता की बात यह है कि इस तरह के कई मामले तो रिपोर्ट भी नहीं हो रहे!

पुलिस ने की केस दर्ज कराने की अपील
एसपी सिटी सरिता डोबाल का कहना है कि कुछ दिनों से ऐसे मामले ज्यादा आ रहे हैं. ‘कुछ लोग डर और लोकलाज छोड़कर पुलिस की मदद ले रहे हैं, लेकिन आधे से ज्यादा ऐसे पीड़ित कोई मुकदमा दर्ज नहीं करवा रहे हैं.’ एसपी ने पीड़ितों से ऐसे मामलों में फौरन एफआईआर दर्ज करवाने की अपील करते हुए यह भी कहा कि इन लोगों को पुलिस जल्द अरेस्ट करेगी.