राजस्थान में आसमान से गिरी मौत की बिजली, सात की मौत, बारिश और ओलों की चेतावनी

Deadly lightning fell from the sky in Rajasthan, seven died, warning of rain and hail.
Deadly lightning fell from the sky in Rajasthan, seven died, warning of rain and hail.
इस खबर को शेयर करें

जयपुर: राजस्थान में अलग-अलग जगहों पर आकाशीय बिजली की चपेट में आने से सात लोगों की मौत हो गई और एक महिला सहित दो लोग झुलस गये। पुलिस ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने शुक्रवार शाम प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने से मरने वालों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने घायलों को नियमानुसार समुचित सहायता एवं इलाज उपलब्ध कराने के भी आदेश दिए।

अलग-अलग जगहों पर गिरी बिजली
पुलिस के अनुसार, सवाई माधोपुर जिले में अलग-अलग स्थानों पर आकाशीय बिजली की चपेट में आने से दंपत्ति सहित चार लोगों की मौत हो गई जबकि एक अन्य व्यक्ति झुलस गया। पुलिस ने बताया कि चौथ का बरवाड़ा थाना इलाके में खेत में काम कर रहे दंपति राजेन्द्र मीणा (30) और उनकी पत्नी जलेबी मीणा (28) की आकाशीय बिजली की चपेट में आने से मौत हो गई। इसी तहर भेरावडा कलां थाना क्षेत्र में सतवीर की और मित्रपुरा थाना क्षेत्र में धन्नालाल मीणा नामक व्यक्ति की मौत हो गई।

दौसा पुलिस के नियंत्रण कक्ष के अनुसार जिले में दो अलग-अलग स्थानों पर आकाशीय बिजली के गिरने एक स्कूली छात्रा और एक युवक की मौत हो गई। उन्होंने बताया कि दोलतपुरा स्कूल से घर लौट रही चाइना मीणा (17)की जाबता के पास आकाशीय बिजली गिरने से मौत हो गई, वहीं लालसोट पर देवली मोड के पास आकाशीय बिजली गिरने से शाहरूख (30) की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि चाकसू थाना क्षेत्र के देवगांव में आकाशीय बिजली गिरने से बीना देवी (35) की मौत हो गई जबकि एक अन्य महिला झुलस गई।

सीएम ने राहत राशि का किया ऐलान
राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा ने शुक्रवार शाम प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर आकाशीय बिजली गिरने से मरने वालों के परिजनों को पांच-पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने घायलों को नियमानुसार समुचित सहायता एवं इलाज उपलब्ध कराने के आदेश भी दिए हैं। शर्मा के निर्देशानुसार मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की सहायता आपदा प्रबंधन एवं राहत विभाग की ओर से जिला कलक्टरों के माध्यम से तथा एक-एक लाख रुपये की सहायता मुख्यमंत्री राहत कोष से प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री ने अतिवृष्टि, ओलावृष्टि प्रभावित क्षेत्रों में शीघ्र सर्वेक्षण कराकर फसलों के नुकसान का आकलन कराने के भी निर्देश दिए।

मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी
जयपुर के मौसम विज्ञान केन्द्र के प्रभारी राधेश्याम शर्मा ने बताया कि शुक्रवार को एक तीव्र पश्चिम विक्षोभ के प्रभाव से दक्षिण-पश्चिमी राजस्थान व आसपास के क्षेत्र के ऊपर दबाव क्षेत्र बना हुआ है। उन्होंने बताया कि इसके प्रभाव से जोधपुर, बीकानेर, अजमेर, जयपुर, भरतपुर व उदयपुर संभाग के कुछ भागों में गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश, 40 से 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से अचानक तेज हवाएं (आंधी) व कहीं-कहीं ओलावृष्टि होने की संभावना है। अधिकारी ने बताया कि शनिवार को भी बीकानेर, अजमेर, उदयपुर, कोटा, जयपुर व भरतपुर संभाग के कुछ भागों में गरज के साथ बारिश, तेज हवाएं व कहीं-कहीं ओलावृष्टि हो सकती है। उन्होंने बताया कि रविवार से मौसम में सुधार होने की उम्मीद है और अगले चार से पांच दिन राज्य के अधिकांश भागों में मौसम शुष्क रहेगा।