हरियाणा में मुस्लिम पंचायत का फैसला, गोकशी पर 51 हजार रुपए जुर्माना, सूचना देने पर मिलेगा इनाम

गोहत्या रोकने को लेकर शनिवार को शाह चोखा गांव में 6 गांवो ंके प्रमुख लोगो की पंचायत आयोजित की गई. जिसमे औथा, फलेंडी, मुंढेता, शाह चोखा और हिंगनपुर के प्रमुख लोगो ने भाग लिया गोकशी और सामाजिक बुराइयों को रोकने के लिए 31 सदस्य कमेठी का गठन किया गया.

इस खबर को शेयर करें

नूंह. गोहत्या रोकने को लेकर शनिवार को शाह चोखा गांव में 6 गांवो ंके प्रमुख लोगो की पंचायत आयोजित की गई. जिसमे औथा, फलेंडी, मुंढेता, शाह चोखा और हिंगनपुर के प्रमुख लोगो ने भाग लिया गोकशी और सामाजिक बुराइयों को रोकने के लिए 31 सदस्य कमेठी का गठन किया गया. पंचायत ने गोकशी को लेकर कई कड़े फैसले लिए, जिसका प्रस्ताव पारित किया गया. गोकशी करने वालो पर जहां 51 हज़ार का जुर्माना अदा करना होगा वही गोकशी की सूचना देने वाले को 5100 रुपये का इनाम दिया जाएगा.

पंचायत के लोगों ने कहा फैसला कड़ाई से लागू किया जाएगा और गोकशी के नाम पर किसी भी कीमत पर मेवात के भाईचारा को टूटने नहीं दिया जाएगा. चौधरी इदरीस फलेंडी, एडवोकेट गुलाम नबी, हकीम आस मोहम्मद का कहना है कि जिस कार्य से दूसरे मजहब के व्यक्ति की भावनाएं आहत होती हो और उसे ठेस पहुंचती हो ऐसा कार्य करने की इसलाम धर्म मे मनाही है.

उनका कहना है कि गोरक्षक दल के लोग हो या फिर गोहत्त्या करने वालो की वजह से मेवात के आपसी हिन्दू मुस्लिम भाईचारा को बिगड़ने नहीं दिया जाएगा. उन्होंने कहा आज पंचायत ने जो फैसले लिए है उनको कड़ाई से लागू किया जाएगा. उन्होंने कहा गोहत्या करने वालों पर 51 हज़ार रुपये का आर्थिक जुर्माना लगाया गया है जबकि इसकी सूचना देने वाले को 5100 रुपए बतौर इनाम दिया जाएगा. पंचायत में गोकशी के खिलाफ हुई पंचायत के फैंसले का मौजूद लोगों ने हाथ उठाकर समर्थन किया.