आपने नोटिस किया, इस बार PM मोदी ने संसद में कहां खड़े होकर ली शपथ

Did you notice where PM Modi stood and took oath in Parliament this time?
Did you notice where PM Modi stood and took oath in Parliament this time?
इस खबर को शेयर करें

MPs Oath Lok Sabha: लोकसभा चुनाव 2024 के बाद आज (24 जून) 18वीं लोकसभा का पहला सत्र शुरू हो गया है. सत्र की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण के साथ हुई. इसके बाद प्रोटेम स्पीकर भतृहरि महताब ने अन्य सांसदों को शपथ दिलाई. सांसदों के शपथ ग्रहण के दौरान इस बार कुछ खास नजर आया. पहली बार सांसदों का शपथ ग्रहण नए संसद भवन में हुआ और सांसदों ने स्पीकर की कुर्सी के बगल में लगे पोडियम पर शपथ ली, जिसके बगल में सेंगोल भी लगा नजर आया. जबकि, इससे पहले सांसदों का शपथ ग्रहण सीट पर ही होता था और वो लोकसभा के अंदर अपनी सीट पर खड़े होकर शपथ लेते थे.

पीएम मोदी ने बताया वैभव का दिन
18वीं लोकसभा के विशेष सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद के बाहर मीडिया को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने इस बात का जिक्र किया कि पहली बार नई संसद में सांसदों का शपथ ग्रहण होगा. पीएम मोदी ने कहा, ‘संसदीय लोकतंत्र में आज का दिवस गौरवमय है. ये वैभव का दिन है. आजादी के बाद पहली बार हमारी अपनी नई संसद में ये शपथ समारोह हो रहा है. अब तक ये प्रक्रिया पुराने सदन में हुआ करती थी. आज के दिन मैं सभी सांसदों का हदय से स्वागत अभिनंनद करता हूं. सबको शभकामनाएं देता हूं.’

संसद के विशष सत्र के दौरान 10 दिनों में 8 बैठकें

सदन में सत्तापक्ष और विपक्ष का सामना होने वाला है. लोकसभा में आज (24 जून) 280 सांसद शपथ लेंगे. 25 जून यानी कल 264 सांसद शपथ लेंगे. सभी सांसदों को प्रोटेम स्पीकर भर्तृहरि महताब शपथ दिलाएंगे. इसके बाद 26 जून को स्पीकर का चुनाव होगा और 27 को राष्ट्रपति दोनों सदनों को संबोधित करेंगी. आखिर में 2 जुलाई को पीएम मोदी लोकसभा में और 3 जुलाई को राज्यसभा में भाषण देंगे.

सत्र के आखिरी दो दिन राष्ट्रपति के अभिभाषण पर सरकार धन्यवाद प्रस्ताव लाएगी और दोनों सदनों में चर्चा होगी. नई संसद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी का आमना-सामना होने वाला है. 2024 के चुनाव परिणाम के बाद संसद का सीन कुछ बदला-बदला सा होगा. सत्ता पक्ष पहले के मुकाबले थोड़ा सा कमजोर और विपक्ष थोड़ा सा ताकतवर दिखेगा. 292 सांसदों की अगुवाई पीएम मोदी करेंगे और सूत्रों के मुताबिक विपक्ष के 235 सांसदों का नेतृत्व राहुल गांधी करेंगे.

संसद में गूंजेगा नीट का मुद्दा, इन मुद्दों पर भी हंगामा संभव

NEET परीक्षा में गड़बड़ी और फिर एक के बाद एक टल रही परीक्षाओं का मुद्दा संसद में गूंजेगा. बीजेपी और कांग्रेस दोनों ने ही एक दूसरे के हमलों का जवाब देने की तैयारी कर ली है. खासकर सत्तापक्ष, विपक्ष के हर हमले का जवाब देने के लिए कमर कस रहा है. बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के आवास पर रविवार को शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, सूचना प्रसारण और रेल मंत्री अश्वनी वैष्णव और बीजेपी आईटी सेल प्रमुख अमित मालविया की बैठक हुई, जिसमें सत्र को लेकर चर्चा की गई. माना जा रहा है कि बैठक में NEET परीक्षा के अलावा अन्य मुद्दों पर सदन में होने वाली चर्चा को लेकर मंथन किया गया है.

नीट परीक्षा में हुई गड़बड़ी के अलावा विपक्ष संसद के विशेष सत्र में यूजीसी नेट एग्जाम कैंसिलेशन और अग्निवीर योजना को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश करेगा. इसके अलावा विपक्ष तीन क्रिमिनल लॉ और लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद शेयर बाजार में हुई गड़बड़ी के आरोपों पर भी हंगामा कर सकता है. इसके साथ ही विपक्ष ईवीएम की विश्वसनीयता का मामला भी उठा सकता है.