Google पर इन चीजों को भूलकर भी नहीं करना चाहिए सर्च, वरना पड़ जाएंगे लेने के देने!

आज के इस डिजटल दौर में इंटरनेट की पहुंच गांव-गांव तक पहुंच चुकी है. लोग छोटी-छोटी से छोटी जानकारियों को गूगल सर्च (Google Search) की उपयोगिता के माध्यम से हासिल कर रहे हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि कई ऐसी भी चीजें हैं जिनको आप गूगल पर सर्च करने से मुश्किल में पड़ सकते हैं.

इस खबर को शेयर करें

नई दिल्ली: आज के इस डिजटल दौर में इंटरनेट की पहुंच गांव-गांव तक पहुंच चुकी है. लोग छोटी-छोटी से छोटी जानकारियों को गूगल सर्च (Google Search) की उपयोगिता के माध्यम से हासिल कर रहे हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि कई ऐसी भी चीजें हैं जिनको आप गूगल पर सर्च करने से मुश्किल में पड़ सकते हैं. इसलिए यह जानना जरूरी है कि गूगल पर क्या सर्च करना आपके लिए मुश्किल का सबब बन सकता है. आइए जानते हैं उनके बारे में….

1. गूगल पर दवाईयों को सर्च करना
अक्सर लोग बीमार होने पर गूगल सर्च के जरिए दवाओं को खोजते है, ऐसा बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए. दरअसल, सर्च का डेटा थर्ड पार्टी को ट्रांसफर कर दिया जाता है, जिसकी वजह से आपके पास उस बीमारी और उसके जुड़े इलाज से संबंधित विज्ञापन दिखाए जाते हैं. साथ ही गलत दवाईयों का सेवन करने से तबीयत खराब हो सकती है.

2. बम बनाने का तरीका
गूगल पर बिना मतलब की चीजों को सर्च करना भारी पड़ सकता है. गूगल पर भूलकर भी बम बनाने के तरीके आदि को ना सर्च करें. दरअसल, इन गतिविधियों पर सायबर सेल की नजर रहती है. ऐसा करने से आपके सिस्टम का आईपी एड्रेस सुरक्षा एजेंसियों तक पहुंच जाता है, जिसके बाद आपके खिलाफ कार्रवाई कर सकती हैं. जिसमें आपको जेल भी जाना पड़ सकता है.

3. चाइल्ड पोर्न
गूगल पर चाइल्ट पोर्न देखना और और शेयर करना दोनों भारी पड़ सकता है. दरअसल, सरकार इसको लेकर बेहद सख्त है. इस तरह की एक्टिविटी करने पर आपको पास्को एक्ट 2012 के सेक्शन 14 के तहत 5 साल से लेकर 7 साल तक की सजा हो सकती है.

4. ई-मेल सर्च करना
गूगल पर अपनी ई-मेल आईडी को सर्च नहीं करना चाहिए. ऐसा करना आपकी निजी जानकारी की सुरक्षा को लेकर खतरा पैदा कर सकता है. बता दें कि ऐसा करने से आपका अकाउंट और पासवर्ड लीक हो सकते है, जो आपको किसी स्कैम में भी फंसा सकता है.

5. कस्टमर केयर नंबर सर्च
अक्सर लोग किसी प्रोडक्ट की समस्या को लेकर गूगल पर कस्टमर केयर नंबर को सर्च करते हैं. लेकिन ऐसा करना सुरक्षित नहीं है, क्योंकि यहां फर्जी हेल्पलाइन फ्लोट किए जाते हैं. ऐसे में इन नंबर पर कॉल करने से आपकी जानकारी हैकर्स के पास चली जाती है. जिसके बाद हैकर्स आपके नंबर पर कॉल करके साइबर क्राइम को अंजाम दे सकते हैं.