क्या आप भी अपनी याददाश्त तेज करना चाहते हैं? तो आज से ही अपनाएं ये प्राकृतिक उपाय

Boost Memory: उम्र बढ़ने के साथ चीजों को भूल जाना सामान्य बात है. जैसे-जैसे हम बूढ़े होते हैं चीजों को याद रखने और याद रखने की हमारी क्षमता कम होती जाती है.

Do you also want to sharpen your memory? So adopt these natural remedies from today itself.
Do you also want to sharpen your memory? So adopt these natural remedies from today itself.
इस खबर को शेयर करें

Boost Memory: उम्र बढ़ने के साथ चीजों को भूल जाना सामान्य बात है. जैसे-जैसे हम बूढ़े होते हैं चीजों को याद रखने और याद रखने की हमारी क्षमता कम होती जाती है. यह नेचुरल है लेकिन फिर भी कुछ दिक्कतों सहित अन्य फैक्ट के कारण भूल जाने की बीमारी और बढ़ सकती है. आयुर्वेद में दिमाग की विभिन्न ज्ञान-संबंधी प्रक्रियाओं को पूरा करने की क्षमता जैसे- याद रखना, क्रिएटिव सोच सोच रखना और याद करने की शक्ति को मेधा या बुद्धि कहा जाता है.

आयुर्वेद एक्सपर्ट डॉ. डिंपल जांगड़ा के अनुसार, बढ़ती उम्र और अन्य स्थितियां जैसे खराब दोष हमारे ज्ञान-संबंधी स्वास्थ्य को खराब कर सकते हैं. उन्होंने एक पोस्ट इंस्टाग्राम में शेयर करते हुए लिखा कि भूलने की बीमारी काफी सालों से सभी उम्र के लोगों को प्रभावित करती आ रही है. आयुर्वेद इस मुद्दे को स्वीकार करता है और सुधार के लिए व्यापक उपचार प्रदान करता है. उन्होंने याददाश्त और बुद्धि से संबंधित मुद्दों से निपटने के लिए नीचे बताए गए आयुर्वेदिक उपचारों को फॉलो करें.

डार्क चॉकलेट: ये 70 प्रतिशत कोको से बने होते हैं जिनमें थोड़ी या बिल्कुल भी चीनी नहीं मिलाई जाती है. डॉ. डिंपल ने कहा कि कोको फ्लेवोनोइड्स का एक रिच सोर्स है और इसके एंटीऑक्सीडेंट गुण दिमाग की सेहत को बूस्ट करने में मदद करते हैं.

बीज और नट्स: बीज और मेवे कई स्वास्थ्य लाभों से भरे होते हैं और साथ ही हमारे दिमाग को मजबूत रखने में मदद करते हैं. डॉ. डिंपल ने बताया कि सूरजमुखी के बीज, बादाम, काजू और हेजलनट्स जैसे फूड लें. ये सभी ओमेगा -3 फैटी एसिड और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होते हैं जो भूलने की बीमारी में देरी करने में मदद करते हैं.

चीनी का कम सेवन: जाने या अनजाने में हम आवश्यकता से ज्यादा चीनी का सेवन कर लेते हैं. प्रोसेस्ड फूड में शुगर होती है और हमें इन्हें खाने से बचना चाहिए. अतिरिक्त चीनी आपके दिमाग की सेहत को नुकसान पहुंचा सकती है. चीनी की बजाय गुड़, खजूर और शहद जैसे नेचुरल विकल्पों को चुनें.

ब्रेन गेम खेलें: सुडोकू, शतरंज, क्रॉसवर्ड और पहेलियां जैसे ब्रेन गेम खेलें. एक्सपर्ट के अनुसार ये ब्रेन गेम दिमाग को एक्टिव रखने और याददाश्त को बढ़ाने में मदद करते हैं. एक नई स्किल सीखना आपको अपने दिमाग का उपयोग करने और खुद को मानसिक रूप से एक्टिव रखने की आदत भी डाल सकता है.