भारत को अंतरिक्ष में अंधा करने की तैयारी कर रहे दुश्मन, पाकिस्तान को सैटेलाइट का पता लगाने वाला रडार देगा चीन

दुनिया में आज लड़ाई का तरीका बदल गया है। आज के समय युद्ध में वही आगे रहता है, जिसके पास ज्यादा से ज्यादा इंफॉर्मेशन हो। इंफॉर्मेशन इकट्ठा करने का सबसे बड़ा जरिया सैटेलाइट हैं, जो युद्ध का रुख बदल देते हैं।

Enemy preparing to blind India in space, China will give satellite detection radar to Pakistan
Enemy preparing to blind India in space, China will give satellite detection radar to Pakistan
इस खबर को शेयर करें

इस्लामाबाद: दुनिया में आज लड़ाई का तरीका बदल गया है। आज के समय युद्ध में वही आगे रहता है, जिसके पास ज्यादा से ज्यादा इंफॉर्मेशन हो। इंफॉर्मेशन इकट्ठा करने का सबसे बड़ा जरिया सैटेलाइट हैं, जो युद्ध का रुख बदल देते हैं। भारत अपने दुश्मनों के हर कदम पर सैटेलाइट के जरिए नजर रखता है। पाकिस्तान भी उनमें से एक है। लेकिन अब चीन भारतीय सैटेलाइटों को किसी भी खुफिया जानकारी से दूर रखना चाहता है। चीन अपना अत्याधुनिक SLC-18 स्पेस सर्विलांस रडार पाकिस्तान को सप्लाई करेगा।

ऐमजॉन पर टेलीविजन स्टोर, टॉप ब्रैंड टीवी पर 50% तक की छूट |

ज़ुहाई (गुआंगडोंग) में चल रहे चीन अंतर्राष्ट्रीय विमानन और एयरोस्पेस प्रदर्शनी में पहली बार इस रडार को सार्वजनिक प्रदर्शनी के लिए रखा गया। प्रदर्शनी में 10 मीटर का SLC-18 रडार रखा गया, जो बहुत ही प्रभावी है। इस रडार ने हर तरह की स्थिति में कई लो अर्थ ऑर्बिट (LEO) सैटेलाइट का पता लगाया। चीन के इस रडार में पाकिस्तान की दिलचस्पी का एक कारण इसकी कीमत है। ये रडार बेहद सस्ते दाम पर उपलब्ध हैं। इस रडार को चीन की सरकारी कंपनी चीन इलेक्ट्रॉनिक्स टेक्नोलॉजी ग्रुप कॉर्पोरेशन (CETC) ने बनाया है। यही कंपनी चीनी सेना के लिए कई मिसाइल, रडार और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस बनाती है।

मित्र देशों को चीन देगा रडार
CETC के उप महाप्रबंधक सुन लेई ने कहा, ‘यह रडार मित्र देशों को अंतरिक्ष में मौजूद टार्गेट का पता लगाने की सुविधा प्रदान करेगा। युद्ध के मैदान में ये संतुलन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।’ सुन लेई के बयान को डीकोड करें तो पाकिस्तान के हर कदम पर भारत के सैटेलाइट निगरानी रख सकते हैं। लेकिन पाकिस्तान के पास ये ताकत नहीं है। अगर भारत और पाकिस्तान युद्ध के मैदान में आमने-सामने आते हैं, तो भारत हर मूवमेंट पर नजर रख सकेगा। लेकिन इस रडार से पाकिस्तान देख सकेगा कि भारतीय सैटेलाइट कहां हैं। इसे देखते हुए वह आगे बढ़ सकेगा।

पाकिस्तान को सबसे ज्यादा हथियार दे रहा चीन
ये रडार किसी भी सैटेलाइट की ट्रैकिंग करके उसके पाथ का पता लगा लेता। इसके बाद सैटेलाइट ग्राउंड पर बैठे अधिकारियों को सिग्नल के जरिए बता देता है कि किस समय सैटेलाइट उनके ऊपर नहीं होगा। पाकिस्तान को सबसे ज्यादा हथियार चीन सप्लाई करता है। चीन ने पाकिस्तान को विमान, पनडुब्बी और मिसाइल सप्लाई किए हैं। स्वीडिश थिंकटैंक, SIPRI के मुताबिक 2017 से 2021 तक पांच साल के बीच में पाकिस्तान ने अपने कुल हथियारों का 72 फीसदी चीन से खरीदा है। चीन के कुल हथियारों के निर्यात में 47 फीसदी पाकिस्तान को हुआ है।