किसानों ने ट्रैक्टरों से हटाए सीमेंट के बैरिकेड, पुलिस ने दागे आंसू गैस के गोले

इस खबर को शेयर करें

Farmers Protest Delhi, Kisan Andolan News Live: पंजाब के किसान स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, एमएसपी पर गारंटी, लखीमपुर खीरी हादसे पर सख्त कार्रवाई करने जैसी कई मांगों पर अड़े हैं। उन्हें दिल्ली पहुंचने से रोकने के लिए हरियाणा में सुरक्षा के काफी कड़े इंतजाम हैं।

ट्रैक्टरों से हटाए सीमेंट के बैरिकेड
हरियाणा-पंजाब शंभू सीमा पार करने की कोशिश कर रहे प्रदर्शनकारी किसानों ने अपने ट्रैक्टरों से सीमेंट के बैरिकेड को जबरन हटा दिया है।

फिर आंसू गैस के गोले छोड़े गए
शंभू बॉर्डर पर दोबारा आंसू गैस के गोले दागे गए हैं। 300 मीटर की दूरी तक आंसू गैस की मार हो रही है।

किसानों की मांगें माने सरकार-दीपेंद्र हुड्डा
किसानों के मार्च पर कांग्रेस सांसद दीपेंद्र हुड्डा ने कहा कि सरकार को किसानों के साथ हुए समझौते का पालन करना चाहिए। किसानों की एमएसपी की मांग वैध है। वहीं हरियाणा के पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि जहां तक किसानों की मांगों का सवाल है तो केंद्र सरकार को तुरंत किसानों से बातचीत करनी चाहिए और उनकी बात माननी चाहिए।

किसानों के साथ आई पंजाब कांग्रेस
पंजाब कांग्रेस ने आंदोलनकारी किसानों का समर्थन किया है। साथ ही किसानों को मुफ्त कानूनी सहायता प्रदान करने के लिए 82838-35469 नंबर भी जारी किया है। पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष अमरिन्दर सिंह राजा वड़िंग ने कहा कि 1967 में एमएसपी लाने वाली इंदिरा गांधी और कांग्रेस सरकार थी। किसानों का 72 हजार करोड़ रुपये का ऋण हमने माफ किया था, उस समय देश के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह थे… हमने पंजाब के 5.5 लाख किसानों का ऋण माफ किया और बिना केंद्र सरकार की मदद के… पंजाब की सरकारों ने ये किया… हमने कभी किसी किसान के ऊपर मुकदमा नहीं किया।

हिरासत में लिए गए किसान
शंभू बॉर्डर से किसानों को हिरासत में लिया जा रहा है।

ड्रोन से फेंके जा रहे आंसू गैस के गोले
शंभू बॉर्डर पर ड्रोन से आंसू गैस के गोले फेंके जा रहे हैं।

किसानों से बातचीत होनी चाहिए: नरेश टिकैत
Farmers Protest Latest Update: किसानों के दिल्ली चलो मार्च पर किसान नेता नरेश टिकैत ने कहा है कि पूरे देश में विरोध प्रदर्शन चल रहा है। सरकार को हमारे साथ बैठकर बातचीत करनी चाहिए और किसानों को सम्मान देना चाहिए। सरकार को इस मुद्दे पर सोचना चाहिए और कोशिश करनी चाहिए।

किसान नेता राकेश टिकैत का बयान आया सामने
Rakesh Tikait on Farmers Protest: किसानों के दिल्ली चलो प्रदर्शन पर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि एमएसपी गारंटी कानून और स्वामीनाथन कमेटी की रिपोर्ट, बिजली संशोधन बिल और कर्ज माफी देशभर के किसानों के मुद्दे हैं। कई किसान यूनियन हैं और उनके अलग-अलग मुद्दे हैं। अगर सरकार दिल्ली की ओर मार्च कर रहे इन किसानों के लिए कोई समस्या पैदा करती है, तो हम उनसे दूर नहीं हैं, हम उनके समर्थन में हैं।

राजनीतिक दलों को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा रहा आंदोलन
किसानों के मार्च पर राजस्थान के कृषि मंत्री किरोड़ी लाल मीणा का कहना है कि चुनाव नजदीक आने पर आंदोलन किया जा रहा है। इसका मतलब है कि इसमें विपक्षी दल शामिल हैं। यह मार्च किसानों के लिए नहीं बल्कि राजनीतिक दलों को फायदा पहुंचाने के लिए किया जा रहा है।