राकेश टिकैत के नेतृत्व में किसानों का हंगामा, बैरिकेडिंग तोड़कर ट्रैक्टर लेकर कलक्ट्रेट में घुस गए किसान

Farmers' uproar under the leadership of Rakesh Tikait, farmers broke the barricades and entered the collectorate with tractors.
Farmers' uproar under the leadership of Rakesh Tikait, farmers broke the barricades and entered the collectorate with tractors.
इस खबर को शेयर करें

मेरठ। भारतीय किसान यूनियन (BKU) ने अपनी मांगों को लेकर यूपी के अलग-अलग जिलों में विरोध-प्रदर्शन किया. इसी कड़ी में मेरठ कलेक्ट्रेट पर भी जबरदस्त तरीके से प्रोटेस्ट किया गया. इस विरोध-प्रदर्शन की अगुवाई खुद किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने की. उनकी अगुवाई में सैकड़ों किसानों ने ट्रैक्टर लेकर डीएम ऑफिस की तरफ कूच किया. कई किसान तो बैरिकेड गिराते हुए ट्रैक्टर लेकर कलेक्ट्रेट के अंदर तक पहुंच गए. जिसके चलते कलेक्ट्रेट का माहौल बेहद गरम हो गया.

प्रोटेस्ट के दौरान ट्रैक्टर चलाते हुए राकेश टिकैत ने ‘आज तक’ से बातचीत की. उन्होंने कहा कि हमारा यह विरोध-प्रदर्शन देश भर में जिला मुख्यालयों में चल रहा है. आज 3 बजे तक प्रोटेस्ट होगा, इसके बाद आगे की रूपरेखा बनाई जाएगी. अभी संयुक्त किसान मोर्चा की मीटिंग में तय होगा कि हमें दिल्ली जाना है या नहीं. या फिर किसी और तरीके से प्रदर्शन करना है. कल (22 फरवरी) हमारी बैठक है.

बकौल राकेश टिकैत- वे अगर हमारे लिए कील लगाएंगे तो हम भी अपने गांव में कील लगा देंगे. हमें भी अपने गांव की बैरिकेडिंग करनी होगी. दिल्ली नहीं आने दे रहे तो इलेक्शन में हम भी उनको गांव नहीं आने देंगे. आंदोलन को कुचलने का काम करेंगे तो उन्हें गांव में कौन आने देगा? कील तो गांव में भी है.

भारत बंद को लेकर क्या है किसानों का प्लान? राकेश टिकैत ने बताया

टिकैत ने आगे कहा कि बिना डर के कोई आंदोलन हो रहा है क्या? सरकार भी तो डर बैठा रही है. वह ईडी का डर बैठा रही है और हम ट्रैक्टर का. दिल्ली नजदीक है और पंजाब दूर है, इसलिए हम यहां पर ट्रैक्टर चला रहे हैं. यह दिल्ली जाने का ट्रायल है.

ट्रैक्टर चलाते नजर आए राकेश टिकैत

मेरठ में राकेश टिकैत ट्रैक्टर चलाते नजर आए. टिकैत की अगुवाई में किसानों ने पुलिस की बैरिकेडिंग को गिरा दिया और ट्रैक्टरों पर सवार होकर कलेक्ट्रेट के अंदर पहुंच गए. राकेश टिकैत ने कहा कि किसान आंदोलन के समर्थन में पूरे देश का किसान एकजुट है.

किसानों के प्रोटेस्ट को देखते हुए भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है. लेकिन उन्हें रोकने में पुलिस नाकामयाब रही. बड़ी संख्या में किसान कलेक्ट्रेट के अंदर घुस गए. हालांकि, इसको लेकर राकेश टिकैत ने कहा कि पुलिस हमें खुद नहीं रोक रही. इस दौरान आसपास माहौल काफी गरम हो गया.