अभी अभीः देश के इस बडे नेता की अचानक हुई अस्पताल में मौत, पीएम मोदी से लेकर सबने जताया दुख

इस खबर को शेयर करें

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी का निधन हो गया है। मनोहर जोशी का आज दोपहर 2 बजे अंतिम संस्कार होगा। बता दें कि कल शाम खबर आई थी कि पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी को दिल का दौरा पड़ा था जिसके बाद उन्हें मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बताया जा रहा है कि रात करीब 3 बजे उन्होंने 86 वर्ष की उम्र में अंतिम सांस ली। मनोहर जोशी का पार्थिव शरीर माटुंगा स्थित उनके घर पर अंतिम दर्शन के लिए सुबह 11 से 2 बजे तक रखा जाएगा। इसके बाद दादर श्मशान भूमि में जोशी का अंतिम संस्कार किया जाएगा।

शिवसेना की ओर बने पहले मुख्यमंत्री
मनोहर जोशी शिवसेना के दिग्गज नेताओं में से एक थे। बता दें कि जोशी साल 1995 से 1999 तक महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री रहे और वह अविभाजित शिवसेना की ओर से राज्य के मुख्यमंत्री बनने वाले पहले नेता थे। इसके अलावा मनोहर जोशी सांसद भी रह चुके हैं और 2002 से 2004 तक तत्कालीन वाजपेयी सरकार में लोकसभा अध्यक्ष भी रहे थे। मनोहर जोशी मार्च 1995 में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने थे।

Former Chief Minister of Maharashtra Manohar Joshi has passed away. Manohar Joshi's last rites will be performed today at 2 pm.
Former Chief Minister of Maharashtra Manohar Joshi has passed away. Manohar Joshi’s last rites will be performed today at 2 pm.

बालासाहेब के वफादार थे मनोहर जोशी
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी ना केवल शिवसेना की ओर से पहले सीएम बने बल्कि शिवसेना संस्थापक दिवंगत बालासाहेब ठाकरे के बेहद करीबी सहयोगियों में से भी एक थे। जोशी को बालासाहेब का बहुत वफादार माना जाता था, इसलिए जब पिछले साल उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, तो उद्धव ठाकरे अपनी पत्नी रश्मि और परिवार के अन्य सदस्यों के साथ उनका हाल जानने के लिए अस्पताल गए थे। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बनने वाले वह शिवसेना के पहले नेता हैं और साल 1966 में शिवसेना के गठन के वक्त से ही इस पार्टी से जुड़े रहे हैं।

रायगढ़ जिले में हुआ था जन्म
पूर्व लोकसभा अध्यक्ष मनोहर जोशी का जन्म महाराष्ट्र के रायगढ़ जिले के नंदवी गांव में हुआ था। जोशी 2 दिसंबर, 1937 को मराठी ब्राह्मण परिवार में जन्मे थे। उनके पिता का नाम गजानन कृष्ण जोशी और मां का नाम सरस्वती गजानन था।