मुजफ्फरनगर के त्यागी समाज में रोष, बीजेपी वालों की नो एंट्री, पूर्व विधायक प्रमोद ऊटवाल को लौटाया

मुजफ्फरनगर में श्रीकांत त्यागी प्रकरण को लेकर त्यागी समाज में रौष है। शनिवार को गांव खाईखेड़ी में एक कार्यक्रम में पहुंचे पूर्व विधायक प्रमोद ऊटवाल को त्यागी समाज के लोगों ने यह कहकर लौटा दिया कि वह उनका सम्मान करते हैं, लेकिन किसी भाजपाई को गांव में नहीं घुसने देंगे।

Fury in Muzaffarnagar's Tyagi society, no entry of BJP, former MLA Pramod Utwal returned
Fury in Muzaffarnagar's Tyagi society, no entry of BJP, former MLA Pramod Utwal returned
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर में श्रीकांत त्यागी प्रकरण को लेकर त्यागी समाज में रौष है। शनिवार को गांव खाईखेड़ी में एक कार्यक्रम में पहुंचे पूर्व विधायक प्रमोद ऊटवाल को त्यागी समाज के लोगों ने यह कहकर लौटा दिया कि वह उनका सम्मान करते हैं, लेकिन किसी भाजपाई को गांव में नहीं घुसने देंगे। इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। गांव में भाजपा विरोधी पोस्टर भी लगाए गए हैं, जबकि बीजेपी विरोधी प्रदर्शन भी गांव में हो चुका है।

श्रीकांत त्यागी की गिरफ्तारी से भड़का त्यागी समाज

नोएडा के श्रीकांत त्यागी के विरुद्ध हुई पुलिसिया कार्रवाई से त्यागी समाज के लोगों में रोष है। श्रीकांत त्यागी की गिरफ्तारी से पहले ही पुलिस के कड़े रुख को देखते हुए त्यागी समाज के लोगों का गुस्सा नजर आना शुरू हो गया था। गिरफ्तारी के बाद पुरकाजी क्षेत्र के गांव खाईखेड़ी में त्यागी समाज के लोगों ने पोस्टर लगाकर बीजेपी के विरोध की घोषणा की थी। शनिवार को गांव में आयोजित एक कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए भाजपा नेता तथा पुरकाजी क्षेत्र के पूर्व विधायक प्रमोद ऊटवाल पहुंचे। लेकिन गांव में त्यागी समाज के लोगों ने प्रमोद ऊटवाल को कार्यक्रम में जाने से रोक दिया। उन्होंने श्रीकांत त्यागी प्रकरण को लेकर नाराजगी प्रकट की। कहा कि उनका सम्मान है, लेकिन बीजेपी वालों को वह गांव में घुसने नहीं देंगे।

वायरल वीडियो में प्रमोद ऊटवाल से जताई नाराजगी

सोशल मीडिया पर वायरल हो रही खाईखेड़ी की वीडियो में त्यागी समाज के लोग पूर्व विधायक प्रमोद ऊंटवाल को कहते हुए नजर आ रहे हैं कि आपका सम्मान है लेकिन फिलहाल त्यागी समाज में रोष है। इसीलिए वह वहां से चले जाएं। वीडियो में एक और आवाज सुनाई दे रही है, जिसमें एक युवक कहता हुआ सुनाई दे रहा है कि इतने त्यागी समाज का यह मामला चल रहा है इतने उनके गांव में मत आना। इसी क्रम में त्यागी बहुल गांव में बीजेपी नो एंट्री के पोस्टर भी लगा दिए गए हैं।