गौतम गंभीर ने BCCI से टीम इंडिया के लिये रखी ऐसी शर्त, विराट-रोहित समेंत सारे खिलाडियों में हडकंप

इस खबर को शेयर करें

नई दिल्ली: भारतीय टीम के हेड कोच पद के लिए गौतम गंभीर के पहले राउंड का इंटरव्यू हो गया है। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गंभीर का नया भारतीय हेड कोच बनना तय दिख रहा है। क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी ने गंभीर का इंटरव्यू लिया। इस कमेटी में अशोक मल्होत्रा, जतिन परांजपे और सुलक्षणा नाइक शामिल हैं। गंभीर ने दिल्ली से वीडियो कॉल पर इंटरव्यू दिया। अभी गंभीर का एक राउंड और इंटरव्यू होने वाला है। बीसीसीआई ने आवेदकों को शॉर्टलिस्ट करने का जिम्मा सीएसी को ही सौंपा था।

बीसीसीआई के सामने गंभीर की मांगें
गौतम गंभीर ने मुख्य कोच पद के लिए बीसीसीआई के सामने कुछ मांगें रखीं। रिपोर्ट की मानें तो इसमें टीम पर पूर्ण नियंत्रण के साथ ही सफेद गेंद और लाल गेंद के लिए अलग-अलग टीमें शामिल हैं।बीसीसीआई पहले ही स्वीकार कर चुका है और उन्हें इस भूमिका के लिए नियुक्त करने का इच्छुक है। अगर ऐसा होता है कि भारत के लिए तीनों फॉर्मेट में खेलने वाले खिलाड़ियों के लिए गंभीर का हेड कोच बनना बड़ा झटका होने वाला है।

गंभीर जता चुके कोच बनने की इच्छा
आईपीएल के बाद अबु धाबी में एक कार्यक्रम में गौतम गंभीर ने कहा था कि भारतीय टीम का कोच बनने से बड़ा सम्मान कुछ नहीं है। उन्होंने कहा था, ‘देखिए, मुझे भारतीय टीम का कोच बनना अच्छा लगेगा। इससे बड़ा कोई सम्मान नहीं है। अपनी राष्ट्रीय टीम को कोचिंग देने से बड़ा कोई सम्मान नहीं है। आप 140 करोड़ भारतीयों का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं और जब आप भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं, तो उससे बड़ा कुछ भी नहीं हो सकता है।’

2027 तक रहेगा गंभीर का कार्यकाल
गौतम गंभीर का भारतीय हेड कोच के रूप में नाम का ऐलान होता है तो उनका कार्यकाल दिसंबर 2027 तक रहेगा। भारत को अगले साल चैंपियंस ट्रॉफी खेलना है। 2026 में टी20 वर्ल्ड कप है। 2025 में आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल भी होना है। इसके बाद 2027 में वनडे वर्ल्ड कप खेला जाना है।