कम उम्र में ही जवान हो रहीं लड़कियां, वजह है हैरान करने वाली

Without telling anyone, wake up in the morning and silently throw this thing on the roof, poverty will be completely eradicated.
इस खबर को शेयर करें

आज इंसान की शारीरिक बनावट में काफी बदलाव हो गया है इंसान पहले की अपेक्षा समय से पहले बूढ़ा हो जाता है इसके पीछे कई कारण है। वही दूसरी तरफ अगर हम जल्दी युवावस्था की बात करे तो लोग अब जल्दी ही युवा भी हो जाते है। इससे यह पता चलता है कि आज इंसान की उम्र कम हो गई है। इससे सबसे ज्यादा प्रभावित होती है लड़कियां, क्योंकि लड़कियों को इससे काफी दिक्कत होती है। लड़कियां जब जल्दी युवावस्था को प्राप्त करती है तो उनको कई तरह की समस्याओं का जल्दी सामना करना पड़ता है। लड़कियों को जल्दी युवावस्था पाने के कई साइन्टिफिक कारण होते है जिससे वह जल्दी इस तरह के प्रक्रिया से गुजरती है। इसके पीछे खान-पान नहीं बल्कि एक बहुत बड़ी वजह है जिसे आपका जानना आवश्यक है।

लड़कियों के शरीर में हो रहा तेजी से विकास
लडक़ों के मुकाबले लड़कियों के शरीर में तेजी से विकास होता है और वह जल्दी ही युवा हो जाती हैं। इसके पीछे मुख्य कारण होता है गर्भावस्था के दौरान मां के शरीर में अलग-अलग प्रकार के रसायनों का प्रवेश करना जो की आज हमारे चारों तरफ मौजूद है। लड़कियां जन्म से पहले टूथपेस्ट, मेकअप, साबुन और अन्य निजी प्रसाधन सामग्री में मौजूद रसायन के संपर्क में आने से कम उम्र में ही लड़कियों के युवा होने की संख्या बढ़ती जा रही है। इसी वजह से इनमें रसायनिक तरीके से जल्दी बदलाव हो जाता है। इससे वह जल्द ही युवावस्था को प्राप्त कर लेती है। लड़कियों को जल्दी युवावस्था को प्राप्त की वजह को जानने के लिए एक रिसर्च किया गया है जिसमें कुछ मुख्य कारणों का पता चला है। हाल ही में किए गए एक सर्वे में यह बात सामने आई है कि लड़कियां समय से पहले युवा क्यों हो रही हैं? अमेरिका के बर्कले में कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय (यूसी) के शोधकर्ताओं ने पाया कि जिन लड़कियों की माताओं के शरीर में गर्भावस्था के दौरान डाईइथाइल थैलेट और ट्राईक्लोसन का स्तर अधिक था, उन लड़कियों को कम उम्र में ही युवा होते देखा गया।

निजी प्रसाधन सामग्री में हानिकारक रसायन
ये रसायन जन्म से पहले ही मां के शरीर द्वारा बच्चे को मिलते रहते हैं। ऐसे रसायन आपके चारों तरफ है जिससे गर्भावस्था के दौरान दूरी बना कर रखनी चाहिए। टूथपेस्ट, मेकअप, साबुन और अन्य निजी प्रसाधन सामग्री में ये रसायन भारी मात्रा में पाए जाते हैं। यूसी बर्कले में एसोसिएट एडजंक्ट प्रोफेसर किम हर्ले ने कहा, ‘हम जानते हैं कि अपने ऊपर जो भी चीजें इस्तेमाल करते हैं वे हमारे शरीर के अंदर तक जाती हैं, चाहे वे त्वचा के माध्यम से पहुंचें या हमारे श्वसन के जरिये पहुंचें या गलती से हम उन्हें खा लें।’ हर्ले ने कहा, च्हमें यह जानने की जरूरत है कि ये रसायन हमारे स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचान रहे हैं।

जरूरत से ज्यादा रसायन नुकसानदायक
यूएस सेंटर फॉर दी हेल्थ एसेसमेंट ऑफ मदर्स एंड चिल्ड्रेन ऑफ सलीनास (सीएचएएमएसीओएस) के अध्ययन के बाद एकत्रित किए गए आंकणों में कई चौकाने वाले खुलासे हुए हैं। इस सर्वे में 338 बच्चों को शामिल किया गाय था जो समय से पहले युवावस्था की ओर बढ़ रहे हैं। यूसी बर्कले में एसोसिएट प्रोसेसर किम हर्ले ने बताया कि, हम शरीर के ऊपर से जो भी चीजें इस्तेमाल करते हैं वह हमारे शरीर में भी प्रवेश करती हैं। चाहे वह त्वचा के माध्यम से हो या श्वसन के जरिए पहुंचे आथव गलती से हम उन्हें खा लें। हर्ले ने कहा कि जरुरत से ज्यादा रसायन हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक होता है और गर्भावस्था के दौरान महिलाओं पर इसका बुरा असर होता है। इस दौरान महिलाओं को ऐसे प्रसाधनों से बचकर रहना चाहिए।