ग्रेस मार्क पाने वाले आधे छात्रों ने छोडा NEET एग्जाम, जांच करने पहुंची CBI पर हमला

इस खबर को शेयर करें

मई को हुई NEET परीक्षा के रिजल्‍ट में ग्रेस मार्क्‍स पाने वाले 1563 कैंडिडेट्स के लिए रविवार को रीएग्‍जाम हुआ। एग्जाम दोपहर 2 बजे से शाम 5:20 बजे के बीच शेड्यूल किया गया था। 1563 में से कुल 813 कैंडिडेट्स ही एग्जाम में शामिल हुए। 750 कैंडिडेट्स एग्जाम देने नहीं पहुंचे। चंडीगढ़ में सिर्फ दो कैंडिडेट्स के लिए एग्जाम सेंटर बनाया गया, दोनों ही नहीं पहुंचे।

यूजीसी नेट पेपर लीक मामले का तार रजौली थाना क्षेत्र के मुरहेना पंचायत के कसियाडीह गांव से जुड़ रहा है। सूचना पर छापेमारी के लिए पहुंची सीबीआई और पुलिस टीम पर कुछ बदमाशों ने हमला कर दिया। इस दौरान सीबीआई टीम के वाहन चालक के साथ मारपीट भी हुई।

मामले को लेकर सीबीआई की टीम हेड ने रजौली थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई है। बीते शनिवार को लगभग चार बजे सीबीआई टीम नवादा पुलिस बल के साथ मुरहेना के कसियाडीह गांव में फूलचंद प्रसाद की पत्नी बबिता कुमारी के घर से वापस लौट रही थी।

इसी बीच घरवालों एवं दर्जनों लोगों की भीड़ वहां जमा हो गई और सिविल ड्रेस में रहे सीबीआई अधिकारी के साथ लोकल पुलिस टीम को लोगों ने नकली बताकर घेर लिया।

हालांकि, टीम द्वारा पहचान पत्र भी दिखाया गया एवं नवादा नगर थाना की महिला कॉन्‍स्टेबल काजल कुमारी के द्वारा लोगों को समझाने बुझाने का बहुत प्रयास किया गया। किन्तु भीड़ में रहे लोगों ने उनकी एक न सुनी और उनके साथ बदतमीजी करने लगे।

सीबीआई की टीम द्वारा पूरी घटना की जानकारी रजौली पुलिस को दी गई। बाद में रजौली पुलिस बल के पहुंचने के बाद भीड़ ने टीम पर हमला कर दिया। इस हमले में सीबीआई टीम के वाहन चालक संजय सोनी बुरी तरह घायल हो गए। वहीं, सीबीआई के अधिकारी की शर्ट फट गई।

जानकारी के अनुसार यूजीसी नेट पेपर लीक मामले में गिरफ्तार किए गए एक युवक और कसियाडीह की एक युवती से मिलकर जानकारी ली। छापेमारी करने आई टीम ने दो मोबाइल के साथ कुछ बैंक पासबुक बरामद एवं यूजीसी नेट से संबंधित कुछ कागजात भी बरामद किए हैं।