कांग्रेस छोड़कर बीच में ही अटक गए हार्दिक पटेल, बीजेपी नहीं लेने को तैयार!

Hardik Patel News: कांग्रेस को अलविदा कह चुके पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के अब बीजेपी जॉइन करने की अटकलें हैं

Hardik Patel got stuck in the middle of leaving Congress, not ready to take BJP!
Hardik Patel got stuck in the middle of leaving Congress, not ready to take BJP!
इस खबर को शेयर करें

नई दिल्ली। Hardik Patel News: कांग्रेस को अलविदा कह चुके पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल के अब बीजेपी जॉइन करने की अटकलें हैं। हालांकि अभी न तो हार्दिक इस पर कुछ स्पष्ट कह पाए हैं और न ही प्रदेश बीजेपी की ओर से कोई बयान सामने आया है। इस बीच बीजेपी का हिस्सा बन चुके पाटीदार नेताओं का कहना है कि हार्दिक पटेल को बीजेपी कार्यकर्ता कभी स्वीकार नहीं करेंगे। साफ है कि पाटीदार नेताओं ने ही हार्दिक के खिलाफ मोर्चा संभाल लिया है। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि कांग्रेस छोड़ हार्दिक बीजेपी की राह पकड़ पाते हैं या नहीं। क्योंकि उधर, आम आदमी पार्टी भी ताक लगाकर बैठी है।

हार्दिक पटेल ने बुधवार को कांग्रेस पार्टी से इस्तीफा दे दिया। हार्दिक प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष पद भी संभाल रहे थे। उन्होंने पार्टी आलाकमान पर गुजरातियों से नफरत करने का आरोप लगाया। अपने पत्र में हार्दिक ने चिकन सैंडविच का भी जिक्र किया था। कहा कि दिल्ली के एक आला नेता के चिकन सैंडविच के लिए पार्टी कार्यकर्ता घनचक्कर बन गया। गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले हार्दिक का यूं जाना इसके “शीर्ष नेतृत्व” पर गुजरात और गुजरातियों से नफरत करने और गंभीरता की कमी का आरोप लगाया। हार्दिक ने आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार की भविष्यवाणी तक कर डाली।

बीजेपी में जाना चाहते हैं हार्दिक
स्पष्ट रूप से हार्दिक पटेल ने यह अभी तक नहीं स्वीकारा है कि उनका अगला स्टॉप बीजेपी होगा। लेकिन कांग्रेस छोड़ते हुए राम मंदिर, सीएए और धारा 370 का जिक्र करके उन्होंने संकेत तो दे ही दिए कि वो बीजेपी में शामिल होने का मन बना चुके हैं। हाल ही में हार्दिक पटेल ने सोशल मीडिया पर भगवा गमछा ओढ़े अपनी एक तस्वीर भी साझा की थी। उस वक्त भी अटकलें लग रही थीं कि हार्दिक कांग्रेस छोड़ बीजेपी का दामन थाम सकते हैं।

हार्दिक पटेल की एंट्री को स्वीकार करेंगे बीजेपी कार्यकर्ता?
बीजेपी नेता और पाटीदार अनामत आंदोलन समिति (पीएएएस) के पूर्व संयोजक वरुण पटेल ने इंडिया टुडे को बताया, “बीजेपी कार्यकर्ताओं ने हार्दिक पटेल के खिलाफ इतना संघर्ष किया है। यह सिर्फ दो राजनीतिक दलों के बीच की लड़ाई नहीं थी। हम पर व्यक्तिगत हमले हुए। इसलिए, बीजेपी के जमीनी कार्यकर्ता हार्दिक पटेल के पार्टी में शामिल होना पसंद नहीं करेंगे।”

वरुण पटेल ने आगे कहा, “हार्दिक पटेल के शामिल होने के बाद भी कांग्रेस पार्टी को कोई लाभ नहीं मिला। उन्होंने [कांग्रेस] कोई चुनाव नहीं जीता। परिणामस्वरूप, हार्दिक पटेल का बीजेपी में शामिल होने का निर्णय व्यर्थ होगा। हालांकि यह पार्टी के शीर्ष नेताओं पर निर्भर है कि वह शामिल हों या नहीं, लेकिन बीजेपी कार्यकर्ता हार्दिक पटेल को स्वीकार नहीं करेंगे।

एक अन्य पाटीदार नेता चिराग पटेल ने भी हार्दिक के बीजेपी में एंट्री पर बात की। चिराग भी इस वक्त बीजेपी का हिस्सा हैं। उन्होंने कहा, “मैं 2015 में आंदोलन के दौरान हार्दिक पटेल के साथ था। मेरे खिलाफ कई आरोप लगाए गए थे और 7 महीने की कैद हुई थी। मैंने उस समय हार्दिक पटेल को चेतावनी दी थी कि यह पाटीदार आंदोलन है, राजनीतिक दल नहीं। वह कांग्रेस नेताओं के साथ बैठे थे और उनसे बात कर रहे थे, और हम सभी ने उनका विरोध किया। समाज आंदोलन राजनीतिक नहीं हो सकता। हम बाद में बीजेपी में शामिल हो गए, और वह कांग्रेस में शामिल हो गए।”

अभी बीजेपी में उनके आने का नहीं सुनाः चिराग
चिराग पटेल ने कहा, “बीजेपी कार्यकर्ता जो भी शीर्ष नेतृत्व का फैसला करेगा उसे स्वीकार करेंगे। मैंने अभी तक उनके बीजेपी में शामिल होने के बारे में कुछ नहीं सुना है। पाटीदार समाज अच्छी तरह से शिक्षित है और अपने फैसले खुद लेता है। वे निर्णय लेने के लिए एक व्यक्ति पर भरोसा नहीं करते हैं। पाटीदार समाज बीजेपी को सबसे अच्छी विकास पार्टी के रूप में पहचानता है।”