हार्वड की सलाह- बॉडी में बढ़ गया है ‘गंदा’ LDL Cholesterol, तो इन 4 चीजों से बना लें दूरी

Harvard's advice - 'dirty' LDL cholesterol has increased in the body, so stay away from these 4 things
Harvard's advice - 'dirty' LDL cholesterol has increased in the body, so stay away from these 4 things
इस खबर को शेयर करें

How To Lower LDL Cholesterol: बॉडी में एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के लेवल का बढ़ना कई जानलेवा बीमारियों की शुरुआत है. ऐसे में वक्त रहते इसे कंट्रोल करना सेहत के लिए बहुत जरूरी होता है. खान-पान में कुछ फुड्स से परहेज करके इस काम को आसान बनाया जा सकता है.

हाई कोलेस्ट्रॉल खराब लाइफस्टाइल के कारण होने वाली एक गंभीर बीमारी है, जिससे आज के समय में ज्यादातर लोग ग्रसित है. लंबे समय तक कोलेस्ट्रॉल का हाई लेवल बॉडी को हार्ट डिजीज, हार्ट अटैक, स्ट्रोक के जोखिम के घेरे में ला देता है. ऐसे में इसे बिना देरी कंट्रोल करना बहुत जरूरी होता है.

वैसे तो आप दवाओं की मदद से कोलेस्ट्रॉल के लेवल को मेंटेन रख सकते हैं. लेकिन खान-पान की आदतों में सुधार करना भी आवश्यक होता है. ऐसे में हार्वड ने भी ऐसे कुछ फुड्स की लिस्ट जारी की है, जिसे एलडीएल कोलेस्ट्रॉल के हाई लेवल होने की स्थिति में नहीं खाना चाहिए.

रेड मीट
बीफ, पोर्क में आम तौर पर सैचुरेटेड फैट की मात्रा अधिक होती है। इसके साथ ही हैमबर्गर, पसलियों, पोर्क चॉप और रोस्ट जैसे मीट रेसिपी में भी बहुत अधिक फैट पाया जाता है, जो हाई कोलेस्ट्रॉल मरीज के लिए सेहतमंद नहीं है. हालांकि आपको मीट से पूरी तरह परहेज की जरूरत नहीं बस इसे कभी-कभार ही खाएं.

फ्राइड फूड्स
अनियन रिंग्स, फ्रेंच फ्राइस जैसे डीप फ्राइड किए हुए फुड्स कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करते हैं. दरअसल, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि डीप फ्राई करने से फूड्स की कैलोरी काउंट बढ़ जाता है. लेकिन यदि आपको कुरकुरे चीजें खाना पसंद है तो इसके लिए एयर फ्रायर में ऑलिव ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं.

प्रोसेस्ड मीट
हॉट डॉग, सॉसेज और बेकन में फैट ज्यादा होने के कारण इसमें कोलेस्ट्रॉल और सैचुरेटेड फैट की मात्रा बहुत अधिक होती है. इसकी जगह पर आप टर्की या चिकन से बने बेकन और सॉसेज खा सकते हैं, लेकिन इसका सेवन भी बहुत नियमित मात्रा में ही करें.

बेक्ड फूड्स
हाई कोलेस्ट्रॉल होने पर कुकीज, केक, पेस्ट्री जैसे बैक किय हुए फूड्स आइटम को भी नहीं खाना चाहिए. क्योंकि इसमें बटर जैसी फैटी चीजों का इस्तेमाल बहुत ज्यादा होता है, जिससे इसमें कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बहुत अधिक हो जाती है.