दिल्ली को पूरा पानी दे रहे… केजरीवाल सरकार के आरोपों को हरियाणा सरकार ने किया खारिज

Haryana government rejects Kejriwal government's allegations of giving full water to Delhi
Haryana government rejects Kejriwal government's allegations of giving full water to Delhi
इस खबर को शेयर करें

चंडीगढ़: हरियाणा और दिल्ली के बीच जल आपूर्ति को लेकर छिड़ा विवाद गहराता जा रहा है। दिल्ली सरकार के आरोपों को खारिज करते हुए हरियाणा के सिंचाई और जल संसाधन राज्य मंत्री डॉ.अभय सिंह यादव ने कहा कि हरियाणा की तरफ से दिल्ली को न केवल पूरा पानी दिया जा रहा है, बल्कि तय मानकों से अधिक सप्लाई जा रही है। हरियाणा ने न कभी पहले पानी देने में कोताही की थी और ना आगे कोई कोताही करेगा।

अभय सिंह यादव ने कही ये बात
सिंचाई और जल संसाधन राज्य मंत्री अभय सिंह यादव ने कहा कि हम शुरू से जागरूक है कि दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी में किसी भी प्रकार की अव्यवस्था न फैले, हमारी कोशिश यही रहती है कि दिल्ली को पूरा पानी दिया जाए। दिल्ली पानी का कैसे इस्तेमाल करता है उसकी मैनेजमेंट कैसे करते है। यह उनकी जिम्मेदारी है। प्रदेश की ओर से पूरा पानी देने के बाद भी उन्हें (दिल्ली) पानी की कमी रहती है तो वे अपने मैनेजमेंट को देखे कि कहां पर कमी है।

दिल्ली सरकार को दे दी सुधार करने की सलाह
उन्होंने कहा कि माननीय उच्चतम न्यायालय ने जो आदेश दिया था कि यमुना नदी बोर्ड, हिमाचल से आने वाले पानी का सत्यापन करेगा। लेकिन हिमाचल से पानी आया ही नहीं है तो उसका सत्यापन नहीं हुआ है। अगर हिमाचल प्रदेश से हरियाणा को पानी आता तो हम तुरंत उस पानी को दिल्ली को भेज देते। राज्य मंत्री ने कहा कि हम पानी के विषय को समग्र रूप से देखते है। उन्होंने कहा कि हाईकोर्ट ने वर्ष 2002 में स्पष्ट आदेश दिए थे कि एसवाईएल नहर बने और इसका पानी हरियाणा को मिले लेकिन उच्चतम न्यायालय के आदेश के बावजूद आज तक भी उस फैसले पर अमल नहीं हुआ। अभय सिंह यादव ने कहा कि दिल्ली के पानी का जो आंतरिक वितरण है, उसमें उन्हें सुधार करने की जरूरत हैं।