बैग में लिये था गर्लफ्रेंड की लाश, साथ में थी बीवी, 150 किलोमीटर तक…

इस खबर को शेयर करें

मुंबई. महाराष्ट्र के पालघर जिले के नायगांव में मेकअप आर्टिस्ट युवती की हत्या कर दी गई. इसके बाद उसके शव को शहर से 150 किमी दूर जाकर ठिकाने लगा दिया गया था. आरोपी, युवती का शादीशुदा प्रेमी निकला है. प्रेमिका के शव को ठिकाने लगाने के वह अपनी पत्नी और दो साल की बच्ची को साथ लेकर प्रेमिका के फ्लैट पर पहुंचा था. शव को ट्रॉली बैग में रखकर ले गया था. आरोपी पति-पत्नी बिल्डिंग की लिफ्ट में लगे सीसीटीवी कैमरे में रिकॉर्ड हो गए थे. पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है.

दरअसल, अगस्त महीने में गुजरात के वलसाड में एक नाले में ट्रॉली बैग में युवती का शव मिला था. वलसाड पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया था और उसकी पहचान करने की कोशिश की थी, लेकिन उसके बारे में कोई जानकारी नहीं लग पाई थी. काफी दिन बीत जाने के बाद भी कोई भी युवती की पहचान के लिए नहीं पहुंचा था. इसके बाद पुलिस ने युवती के फोटोग्राफ क्लिक कराए और शव का अंतिम संस्कार कर दिया था.

इधर, नायगांव पुलिस के पास 14 अगस्त को मेकअप आर्टिस्ट 29 साल की नैना महत नाम की युवती के गुमशुदा होने की एफआईआर दर्ज कराई गई. शिकायत दर्ज कराने वाली युवती नैना की बहन थी. पुलिस ने मामले की जांच शुरू की. जिस नायगंवा में जिस बिल्डिंग में रहती थी उस बिल्डिंग में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली थी.

सीसीटीवी में नजर आए थे पति-पत्नी

पुलिस को बिल्डिंग में आए कपल पर शक हुआ. दोनों नैना का फ्लैट में आते-जाते रिकॉर्ड हुए थे. पुलिस ने उनकी पहचान की. इसके बाद वसई इलाके में रहने वाले मनोहर शुक्ला और पत्नी पूर्णिमा को गिरफ्तार किया. पुलिस ने दोनों को कस्टडी में लेकर पूछताछ की.

यूं खुला हत्या का राज

मनोहन ने पुलिस को बताया कि वह फिल्म इंडस्ट्री में ग्राफिक डिजाइनर का काम करता है. वहीं, नैना महत मेकअप आर्टिस्ट का काम करती थी. दोनों की मुलाकात 5 साल पहले फिल्म के सेट पर हुई थी. इसके बाद उन दोनों के बीच लव अफेयर शुरू हो गया था.

मनोहर ने पुलिस को बताया कि साल 2018 में उसकी शादी पूर्णिमा से हो गई थी. उनकी एक दो साल की बच्ची भी है. शादी के बारे में पता चलने के बाद नैना ने मेरे खिलाफ वालीव पुलिस स्टेशन में रेप का मामला भी दर्ज कराया था.

मनोहर ने पुलिस से कहा कि नैना उस पर पत्नी पूर्णिमा को छोड़कर का दबाव बना रही थी और उससे शादी करने का बोलती थी. पुलिस ने बताया कि बीवी-बच्ची होने के बाद भी मनोहर लगातार नैना से मिलता था.

झगड़ा हुआ, पानी में डुबो दिया नैना का मुंह

मनोहर ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि 10 अगस्त की सुबह वह नैना से मिला था. पुलिस के मुताबिक, दोनों के बीच जोरदार बहस हुई. आरोपी के मुताबिक, इस दौरान नैना से उससे कहा था वह मर जाएगी. इस बात पर आरोपी ने उससे कहा कि तुम क्यों मर रही हो, मैं ही तुम्हे मार देता हूं’.

इसके बाद आरोपी ने नैना का सिर पकड़ कर उसका मुंह पानी से भरी बाल्टी में डूबो दिया. करीब 5-7 मिनट तक उसे नैना का मुंह पानी में डुबए रखा. नैना के शरीर में हलचल नहीं हो रही थी. आरोपी ने उसे पलंग पर लिटा दिया और काम पर चला गया. जब वह लौटा तो देखा कि नैना सांस नहीं ले रही थी. वह फिर से फ्लैट से चला गया.

पत्नी, बच्ची और ट्रॉली बैग के साथ लौटा

पुलिस ने बताया कि वह कुछ समय बाद वापस अपनी एक ट्रॉली बैग लिए नैना के फ्लैट में आया. इस दौरान पत्नी पूर्णिमा दो साल की बच्ची लिए मनोहर के साथ मौजूद थी. दोनों बिल्डिंग की लिफ्ट में सीसीटीवी में रिकॉर्ड भी हुए थे.

फ्लैट में पहुंचने के बाद मनोहर ने पत्नी पूर्णिमा की मदद से प्रेमिका नैना का शव साथ लाए नीले रंग के बड़े से ट्रॉली बैग में रखा. इसके बाद दोनों नायगांव से 150 किमी दूर गुजरात के वलसाड पहुंचे. यहां पर नैना के शव वाला ट्रॉली बैग फेंक कर आ गए थे.

टैटू से हुई पहचान, DNA टेस्ट भी होगा

पुलिस ने बताया कि आरोपी के बताने के बाद वलसाड पुलिस से संपर्क किया गया था. पुलिस ने लावारिश लाश मिलने की बात कही थी. साथ ही बताया था कि पहचान नहीं होने पर नैना के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया था. उसके हाथ पर एक टैटू बना हुआ था. नैना का वह टैटू उसकी बहन को दिखाया गया. उसने पहचान की है. पुलिस का कहना है कि डीएनए टेस्ट भी कराया जाएगा. इसके वह शव नैना का ही है इसकी पुष्टि की जा सकेगी.ट

पत्नी-पत्नी किए गए गिरफ्तार

पुलिस का कहना है कि दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. उन पर केस संबंधी विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर लिया गया है. नैना के शव को ठिकाने लगाने के दौरान दो साल की बच्ची भी मनोहर और पुर्णिमा के साथ थी. इस मामले में मनोहर के भाई की मिलीभगत भी सामने आ रही है. मामले की जांच की जा रही है.

मनोहर के भाई का नाम भी आ रहा है सामने: पुलिस

पुलिस लगभग एक महीने बाद जोड़े को गिरफ्तार करने में कामयाब रही. वलसाड में पुलिस ने पहले ही नैना के शव का अंतिम संस्कार कर दिया क्योंकि उन्हें कोई रिश्तेदार नहीं मिला. यह जोड़ा फिलहाल पुलिस हिरासत में है. मनोहर के भाई पर भी अपराध में शामिल होने का संदेह है.