घर के 8 लोगों को कुल्हाडी से काटकर मारा, फिर खुद को लगा ली फांसी, वजह दिल दहला देगी आपका

इस खबर को शेयर करें

छिंदवाड़ा जिले के तामिया के बोदल कछार में हुए जघन्य हत्याकांड के बाद गांव में सन्नाटा पसर गया। जिस घर में आठ दिन पहले शहनाइयां गूंजी थीं और नई नवेली दुल्हन के आने की खुशी में पूरा घर खुशियों से झूम उठा था। आज वहां पर मातम पसरा हुआ है। यहां एक साथ 9 अर्थियां उठीं जिसके बाद हर किसी की आंखें नम हो गईं।

पोस्टमार्टम के बाद जैसे ही शव वाहन में एक साथ नौ लोगों की लाश गांव में पहुंचीं पूरा गांव में सन्नाटा पर पसर गया। हर किसी के चेहरे पर एक ही सवाल था कि आखिर सनकी युवक के सिर पर ऐसा क्या सवार हो गया कि उसने अपने साथ पूरे परिवार को खत्म कर लिया। नन्हे बच्चों पर उसे जरा भी रहम नहीं आया तो वहीं अपनी मां और भैया भाभी की जान लेते वक्त उसके हाथ नहीं कांपे।

एक साथ दफनाए नौ शव, जेसीबी से गड्ढा खोदकर किया गया अंतिम संस्कार
दोपहर में लगभग तीन घंटे तक पोस्टमार्टम की प्रक्रिया चलती रही। वहीं गांव के मोक्षधाम में सभी नौ शवों को दफना दिया गया। यहां प्रशासनिक अधिकारियों की टीम के अलावा कांग्रेस विधायक भाजपा नेता सहित तमाम जनप्रतिनिधि मौजूद थे। अंतिम संस्कार की रस्म मृतक की बहन और बहनोई ने अता की। इस दौरान हर आंख नम थी, मासूम बच्चों के शवों को एक साथ दफनाया गया, जबकि आरोपी के शव को अलग दफन किया गया।

मृतक परिवार को दस लाख
मध्यप्रदेश की लोक स्वास्थ यांत्रिकी (पीएचई) मंत्री संपतिया उइके ने बोदल कछार पहुंचकर पीड़ित परिवार से बात करके सांत्वना दी। हादसे में परिवार की दो बहनें बच गईं, जो विवाहित थीं और अपने ससुराल में थीं। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव की तरफ से परिवार को दस लाख और घायल बालक को पांच लाख रुपये देने की घोषणा की गई है। मृतकों की अंत्येष्टि के लिए 10-10 हजार और तत्कालीन सहायता के तौर पर 50-50 हजार रुपये और घायल के तत्काल इलाज के लिए 50 हजार के चेक पीएचई मंत्री ने पीड़ित परिवार की बहनों को सौंपे हैं। उन्होंने शासन की तरफ से घटना पर गहरा दुःख व्यक्त किया। बता दें कि छिंदवाड़ा के तामिया ब्लॉक के बोदल कछार गांव में कल रात एक सरफिरे युवक ने अपने परिवार के आठ सदस्यों की हत्या करके फांसी लगा ली है।