बासी मुंह पानी में उबालकर पिएं ये चीज, कई रोगो से मिलेगा छुटकारा

Drink this thing by boiling it in stale mouth water, you will get rid of many diseases
Drink this thing by boiling it in stale mouth water, you will get rid of many diseases
Share this news

सुबह खाली पेट तुलसी के पत्तों को चबाना चाहिए लेकिन अगर आप इसको नहीं चबा सकते तो सुबह-सुबह तुलसी के पत्तों का गर्म पानी पियें। तुलसी के पत्तों में ऐंटिऑक्सिडेंट्स होता है जो शरीर को फ्री-रैडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाकर रखता है। साथ ही तुलसी की चाय सूजन को कम करने और तनाव दूर करने में भी मदद करती है।

तुलसी का गर्म पानी पीने से ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल में रहता है। यह डायबीटीज के मरीजों के लिए भी बेहतर विकल्प है। तुलसी का गर्म पानी पीने से शरीर में कार्बोहाइड्रेट और फैट का मेटाबॉलिज्म सही रहता है जिससे खून में मौजूद शुगर आपको एनर्जी देने का काम करता है।

जोड़ों में होने वाली सूजन और जलन की समस्या को दूर करने में तुलसी का पानी बेहतर विकल्प है। इसमें सूजन कम करने वाले एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। तुलसी का पानी आर्थराइटिस यानी गठिया की समस्या से पीड़ित मरीजों के लिए भी फायदेमंद है क्योंकि यह जोड़ों में दर्द और सूजन को दूर करने में मदद करती है।

तुलसी में शरीर में मौजूद स्ट्रेस हॉर्मोन कॉर्टिसोल के लेवल को बनाए रखने में सहायक है। शरीर में कॉर्टिसोल का लेवल कम होने से तनाव भी कम होता है। इससे बेचैनी दूर करने और मूड फ्रेश करने में मदद मिलती है।

तुलसी पाचन तंत्र को मजबूत करने में सहायक है। तुलसी पाचन के लिए जरूरी गैस्ट्रिक जूस को जारी करने के लिए शरीर को उत्तेजित करती है जिससे पाचन आसानी से होता है। इसके अलावा यह लीवर और ब्लैडर को डिटॉक्स करने में भी मदद करती है।

तुलसी के पत्ते सर्दी-खांसी और जुकाम से राहत पाने का बेहतर उपाय है। तुलसी में पाया जाने वाला यूजिनॉल और ऐंटिऑक्सिडेंट्स बलगम और म्यूकस को बाहर निकालने में मदद करता है। साथ ही साथ तुलसी की चाय में ऐंटिसेप्टिक और ऐंटि-बैक्टीरियल प्रॉपर्टीज भी होती हैं जिससे सर्दी-खांसी के लक्षणों को दूर करने में मदद मिलती है।