हिमाचल में गर्मी ने अब तक के तोड़े सारे रिकॉर्ड, इस तारीख तक नहीं मिलेगी राहत, 9 जिलों में चलेगी लू

Heat has broken all records in Himachal, there will be no relief till this date, heat wave will prevail in 9 districts
Heat has broken all records in Himachal, there will be no relief till this date, heat wave will prevail in 9 districts
इस खबर को शेयर करें

शिमला। हिमाचल प्रदेश में गर्मी ने रिकॉर्ड तोड़ा है। शुक्रवार को हमीरपुर के नेरी में अधिकतम तापमान 46.7 डिग्री सेल्सियस रहा, जो प्रदेश में अब तक का सबसे अधिक तापमान है। इससे पहले अधिकतम तापमान का रिकार्ड ऊना का था, जहां 29 मई, 2024 को तापमान 46 डिग्री सेल्सियस रहा था। वहीं, 12 वर्ष बाद जून में शिमला का अधिकतम तापमान 31 डिग्री पहुंचा। 2012 में शिमला का तापमान जून में 31 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। हालांकि, मई में इस वर्ष अधिकतम तापमान 31.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। तेज धूप के कारण शिमला में भी बाहर घूमते समय छाते का सहारा लेना पड़ रहा है। शुक्रवार को प्रदेश में जगह लू चली।

मंडी में हुई वर्षा
हमीरपुर जिले के नेरी में अधिकतम तापमान में सबसे अधिक 1.6 डिग्री की वृद्धि दर्ज की गई। ऊना के अधिकतम तापमान में एक डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। मंडी के सुंदरनगर में दो मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई। मौसम विभाग ने शनिवार को चंबा, लाहुल स्पीति और किन्नौर को छोड़ बाकी नौ जिलों के लिए भीषण लू चलने की चेतावनी जारी की है।

इस कारण बढ़ रहा तापमान
प्रदेश में नौ स्थानों पर तापमान 40 डिग्री के पार दर्ज किया गया। अभी दो दिन तक मौसम में बदलाव आने की संभावना नहीं है। 18 जून को पश्चिम विक्षोभ सक्रिय होने की संभावना है। हिमाचल में भी तेज धूप के कारण तापमान बढ़ रहा है।

किसान-बागवान परेशान
शिमला में गर्मी के कारण किसानों व बागवानों की समस्या बढ़ रही है। गर्मी के कारण सूखे की स्थिति पैदा हो गई है। बगीचों में सेब झड़ने के कगार पर पहुंच गए हैं और पत्ते विभिन्न रोगों के संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। बागवानों की ओर से मार्च में लगाए गए पौधों में से आधे से अधिक सूख गए हैं। पानी की कमी से फूलगोभी, फ्रासबीन, बंदगोभी, शिमला मिर्च सहित कई नकदी फसलें सूख चुकी हैं।