6 साल बाद टूटा देहरादून में गर्मी का रिकॉर्ड, हीट स्ट्रोक का खतरा; क्या है उत्तराखंड मौसम पूर्वानुमान?

Heat record broken in Dehradun after 6 years, danger of heat stroke; What is Uttarakhand weather forecast?
Heat record broken in Dehradun after 6 years, danger of heat stroke; What is Uttarakhand weather forecast?
इस खबर को शेयर करें

देहरादून: उत्तराखंड के मैदानी इलाकों में बढ़ते तापमान में लोगों की मुश्किलें भी कई गुना बढ़ गईं हैं। उत्तराखंड मौसम पूर्वानुमान में फिलहाल कोई राहत की उम्मीद नहीं दिख रही है। देहरादून में शुक्रवार को छह साल बाद सीजन का सबसे गर्म दिन रिकॉर्ड किया गया।

गर्मी बढ़ने के साथ ही हीट वेव का भी खतरा है। इससे पहले 2018 में 26 मई को 40.7 रहा था। मौसम विभाग ने उत्तराखंड के मैदानी हिस्सों में गर्म हवाएं चलने का येलो अलर्ट जारी किया है। दून में तापमान शनिवार को 41 डिग्री तक पहुंचने की संभावना है, जो दस साल में सबसे ज्यादा होगा।

मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि राज्य के मैदानी हिस्सों खासतौर पर देहरादून, हरिद्वार, उधमसिंहनगर के साथ ही पौड़ी, नैनीताल और चंपावत के मैदानी क्षेत्रों में तेज गर्म हवाएं चलेंगी। इससे तापमान में और अधिक इजाफा होगा।

सोमवार को राज्य में सर्वाधिक तापमान देहरादून में 40.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। यहां शुक्रवार को न सिर्फ सीजन का सबसे गर्म दिन रहा, बल्कि मई महीने में 2018 में सर्वाधिक तापमान की बराबरी भी मौसम ने की है।

इसके अलावा पंतनगर में 39.9 डिग्री सेल्सियस और मुक्तेश्वर में 28.9 डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज किया गया। दून में न्यूनतम तापमान भी सामान्य से एक डिग्री ज्यादा सेल्सियस दर्ज किया गया। यहां शुक्रवार को तापमान 41 डिग्री तक पहुंचने के आसार हैं। यह पिछले दस साल में सर्वाधिक होगा।

हीट स्ट्रोक का खतरा
मैदानी हिस्सों में लगातार बढ़ रहे तापमान से हीट स्ट्रोक का खतरा बढ़ गया है। इसे लेकर मौसम विभाग ने स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करने की सलाह दी है।