हिमाचल सरकार ने दो सप्ताह में मांगी परवाणू रोपवे हादसे की रिपोर्ट, हवा में लटक गए थे 14 पर्यटक

टिंबर ट्रेल रिजार्ट के रोपवे की ट्रालियों में 14 लोगों के फंसने के मामले में सरकार ने मजिस्ट्रेटी जांच की रिपोर्ट दो सप्ताह के भीतर सौंपने के निर्देश दिए हैं।

Himachal government sought report of Parwanoo ropeway accident in two weeks, 14 tourists were hanging in the air
Himachal government sought report of Parwanoo ropeway accident in two weeks, 14 tourists were hanging in the air
इस खबर को शेयर करें

परवाणू (सोलन): Parwanoo Timber Trail Ropeway, टिंबर ट्रेल रिजार्ट के रोपवे की ट्रालियों में 14 लोगों के फंसने के मामले में सरकार ने मजिस्ट्रेटी जांच की रिपोर्ट दो सप्ताह के भीतर सौंपने के निर्देश दिए हैं। अतिरिक्त उपायुक्त सोलन जफर इकबाल के नेतृत्व में गठित सात सदस्यीय जांच समिति ने बुधवार को मौके का निरीक्षण कर हादसे के कारणों की जांच की। उन्होंने स्टाफ व प्रबंधन से उस दिन के घटनाक्रम की जानकारी ली। जांच समिति में डीएसपी परवाणू, आरटीडीसी के जेई, रोपवे के इंस्पेक्टर, लोक निर्माण विभाग के मैकेनिकल विंग धर्मपुर के सहायक अभियंता व नायब तहसीलदार सेटलमेंट परवाणू को शामिल किया गया है।

अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया जांच समिति ने घटना वाले दिन के तथ्य जुटाए हैं। हादसे के कारणों को पूरे तथ्यों के साथ जांच में आन रिकार्ड लाने के बाद फाइनल रिपोर्ट तैयार कर आगे भेज दी जाएगी।

परवाणू में सोमवार को टिंबर ट्रेल रिजार्ट रोपवे में तकनीकी खराबी आने से दो ट्रालियों में 14 पर्यटक करीब छह घंटे तक हवा में फंसे रहे थे। इनमें एक करीब जमीन से 90 मीटर ऊपर थी। फंसे पर्यटकों में 10 दिल्ली के एक ही परिवार के थे। रिजार्ट की रेस्क्यू टीम सहित पुलिस व एनडीआरएफ ने पर्यटकों को रस्सियों के सहारे नीचे उतारा। प्रारंभिक जांच में तकनीकी खराबी आने के कारण रोपवे ट्राली की शाफ्ट टूटना बताया जा रहा है।