अवैध संबंध के चक्कर में फंसा ली है जान तो कैसे बचें, यहां जानिये खास तरीके

इस खबर को शेयर करें

इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपने अपने साथी से लव मैरिज की है या अरेंज। शादीशुदा बंधन में रहते हुए क‍िसी अन्‍य व्‍यक्‍ति‍ के साथ संबंध बनाना बिल्कुल भी ठीक नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि शादी एक बहुत ही पवित्र रिश्ता है, जिसमें धोखा-फरेब और विश्वासघात के लिए बिल्कुल भी जगह नहीं है। हालांकि, ऐसा हो भी क्यों न जब दो इंसान इस बंधन में बंधते हैं, तो वह एक-दूसरे को यही विश्वास दिलाते हैं कि वह कभी भी धोखा नहीं देंगे। इस रिश्ते को पूरे मन के साथ निभाएंगे। लेकिन यह भी सच है कि 40% मामलों में ऐसा नहीं होता है।

ऐसा इसलिए क्योंकि कभी-कभी लोग शादीशुदा और जीवनसाथी के प्रति वफादार होने के बाद भी किसी तीसरे व्यक्ति के प्रति अपनी भावनाएं विकसित कर ही लेते हैं। हालांकि, एक्सट्रा मैरिटल शुरू होने के दौरान इन भावनाओं को उचित ठहराना बहुत आसान होता है। लेकिन एक समय बाद इन्हें जी का जंजाल बनने में बिल्कुल भी देर नहीं लगती। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आप गलती से भी एक्‍स्‍ट्रा मैर‍िटल अफेयर के चक्‍कर में पड़ गए तो उससे बाहर न‍िकलना बहुत मुश्किल हो जाता है। हालांकि, हम आपको यहां बता रहे हैं कि कैसे आप अपनी गलती सुधार सकते हैं।

कहना बिल्कुल भी गलत नहीं होगा ज्यादातर मामलों में विवाहेतर संबंध यानी एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर विवाह में परेशानी के कारण शुरू होता है। ऐसे में सबसे पहले तो अपने अफेयर का कारण ढूंढें और अपने पॉर्टनर से बात करें। हम मानते हैं कि विवाहेतर संबंध से उबरने का यह सबसे कठिन चरण है, लेकिन अपने जीवनसाथी को इसके बारे में बताना बहुत ज्यादा जरूरी है।

आप भरोसा करके अपने पॉर्टनर को अपने अफेयर की जानकारी दें। उन्‍हें समझाएं क‍ि क‍िन हालातों में आपने ये कदम उठाया था साथ ही आप अपने पॉर्टनर से भव‍िष्‍य में ऐसी गलती न करने का वादा भी करें।

​अवैध र‍िश्‍तों से संपर्क बंद करें
अगर आप वाकई में एक्‍स्‍ट्रा मैर‍िटल अफेयर से बाहर आना चाहते हैं, तो आपको अपने प्रेमी को अपने निर्णय के बारे में सब कुछ बताना होगा। उसे सब बताने के बाद उसके साथ सभी तरह की बातचीत को पूरी तरह बंद कर देना है।

अपने अफेयर से बाहर निकलने का यह सबसे अच्छा तरीका है। यही नहीं, आप धीरे-धीरे उन चीजों की ओर लौटें जिन्हें आप पीछे छोड़ आएं हैं। आप अवैध संबंधों से बाहर तभी आ पाएंगे, जब आप अपने जीवनसाथी को पहले की तरह स्वीकार लेंगे।

​काउंसलर की मदद लें
अगर आप लाख कोशिशों के बाद भी अपने एक्‍स्‍ट्रा मैरिटल अफेयर से बाहर नहीं आ पा रहे हैं, तो आप काउंसलर की मदद भी ले सकते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि एक अच्छा मैरिज काउंसलर आपको अफेयर से बाहर निकलने का सही तरीका बता सकता है।

हम अच्छे से जानते हैं कि अपने अतीत को पीछे छोड़ना एक बहुत ही बड़ा कदम है। लेकिन ऐसा करके आप आने वाली क‍िसी बड़ी परेशानी से बच जाएंगे। यही नहीं, इस दौरान अपने जीवनसाथी को भी अपनी समस्याओं में शामिल करें।

​हो सकते हैं झगड़े
इसमें कोई दोराय नहीं कि जब एक एक पति या पत्नी रास्ते से भटक जाते हैं, तो मामला तलाक तक पहुंच जाता है। ऐसा इसलिए क्योंकि शादीशुदा र‍िश्‍ते की नींव पूरी तरह भरोसे पर टिकी होती है। ऐसे में बहुत ही सामान्य सी बात है कि किसी एक भी अफेयर पता चलने के बाद जोड़ों को एक-दूसरे के साथ बहुत बुरा बर्ताव करते हैं।

लेकिन ऐसे में आपको बता दें कि यह समय पीछे हटने का नहीं है बल्कि इस दौरान आपको अपने साथी की मदद करनी चाहिए। इस दौरान दोनों पति-पत्नी को एक-दूसरे पर विश्वास बनाने और अपने आईं दूरियों को कम करने के लिए काम करना चाहिए।