अमीर बनना है तो शेयर बाजार, सोना, प्रॉपर्टी और FD में करें निवेश, खूब बढ़ेगा पैसा, ये हैं 7 बेहतरीन निवेश विकल्प

इस खबर को शेयर करें

Investment Planning: किसी भी व्यक्ति के लिए अपने फाइनेंशियल गोल हासिल करना आसान नहीं है। इसके लिए आपको निवेश की रणनीति बनानी होती है और जरूरी है लॉन्ग व शॉर्ट टर्म इन्वेस्टमेंट की आपकी अप्रोच सही रास्ते पर हो। कई लोगों को लगता है कि वे अपने फाइनेंशियल गोल नहीं पा सकते। सबसे जरूरी है कि आप अपने फाइनेंशियल गोल और उसके लिए जरूरी फंड के बारे में पता करें। इसके अलावा अपनी इनकम, खर्चे, मौजूदा लोन और लायबिलिटीज को भी समझना जरूरी है। अगर आप भविष्य में अपनी वित्तीय स्थिति को सिक्यॉर करना चाहते हैं और जिंदगी के अपने लक्ष्यों को पाना चाहते हैं तो बुद्धिमानी से निवेश करना सबसे जरूरी कदम है। हम आपको बता रहे हैं 7 स्मार्ट इन्वेस्टमेंट ऑप्शन के बारे में जहां आप अपना पैसा निवेश कर सकते हैं और अमीर बन सकते हैं।

स्टॉक (Stocks)
स्टॉक मार्केट में निवेश करने से आपको कुछ समय में शानदार रिटर्न मिल सकता है। अपने पोर्टफोलियो को डाइवर्स रखें या फिर जोखिम को करने के लिए म्यूचुअल फंड्स में निवेश करें। रिसर्च और एक्सपर्ट्स की सलाह के साथ ऐसे रिसर्च खोजें जिनमें बढ़िया रिटर्न मिल सके और जिनसे आपके फाइनेंशियल गोल पर असर ना पड़े। हालांकि, हमेशा इस बात की सलाह दी जाती है कि स्टॉक मार्केट में निवेश करने ससे पहले स्टॉक मार्केट की बेसिक जानकारी जरूर लें और यह जानें कि शॉर्ट और लॉन्ग-टर्म निवेश कैसे होता है। स्टॉक मार्केट में जोखिम होता है आपको निवेश करने से पहले इसकी खामी और खूबियों के बारे में अच्छी तरह पता होना चाहिए।

म्यूचुअल फंड्स (Mutual Funds)
म्यूचुअल फंड्स में अलग-अलग निवेशकों से पैसा इकट्ठा करके स्टॉक, बॉन्ड और दूसरे एसेड में निवेश किया जाता है। म्यूचुअल फंड एक विविध और प्रोफेशनल मैनेजमेंट है जो शुरुआत करने वाले और अनुभवी निवेशकों दोनों के लिए एक बढ़िया ऑप्शन है।

म्यूचुअल फंड्स में SIP के जरिए निवेशक एक फिक्स्ड अमाउंट नियमित तौर पर निवेश कर सकते हैं। अगर आप कंपाउंडिंग से होने वाले फायदे देखना चाहते हैं तो थोड़े से शुरुआत करके धीरे-धीरे निवेश को बढ़ा सकते हैं।

रियल एस्टेट (Real Estate)
भारत में प्रॉपर्टी में निवेश करना, हमेशा से एक बढ़िया विकल्प माना जाता रहा है। प्रॉपर्टी में निवेश करने से डबल फायदे मिलते हैं- पहला कैपिटल क्रिएट होना और दूसरा किराए से होने वाली इनकम। हालांकि, जरूरी है कि रियल एस्टेट में निवेश करने से पहले लोकेशन, मार्केट ट्रेड और कानूनी चीजों के बारे में अच्छे से जांच-पड़ताल कर लें।

नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS)
National Pension System यानी एनपीएस एक सरकारी रिटायरमेंट सेविंग स्कीम है जिसमें टैक्स बेनिफिट भी मिलता है। इस स्कीम में अलग-अलग एसेट क्लास में निवेश किया जा सकता है और रिटायरमेंट के बाद आपको एक रेगुलर पेंशन मिलती रहेगा। अगर आप रिटायरमेंट के बाद भी एक इनकम चाहते हैं तो इसमें निवेश किया जा सकता है।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)
Public Provident Fund एक पॉप्युलर लॉन्ग-टर्म इन्वेस्टमेंट स्कीम है जो सरकारी है। इस स्कीम को खासतौर पर रिटायरमेंट कॉर्पस को बनाने के इरादे से डिजाइन किया गया है। इस स्कीम में निवेश करने से टैक्स बेनिफिट भी मिलता है। इस स्कीम में आप एक फिक्स्ड अमाउंट सालाना निवेश कर सकते हैं। एक वित्तीय वर्ष के लिए यह अमाउंट न्यूनतम 500 रुपये से 1.5 लाख रुपये के बीच हो सकता है।

फिक्स्ड डिपॉजिट और बॉन्ड (Fixed Deposits and Bonds)
बात FD या सरकारी व कॉरपोरेट बॉन्ड्स की हो तो इस ऑप्शन में आप एक निश्चित अवधि में स्थाई रिटर्न पा सकते हैं। एफडी में जहां गारंटीड रिटर्न मिलता है वहीं बॉन्ड्स में थोड़े जोखिम के साथ हाई रिटर्न ऑफर किया जाता है। एक स्थाई इनकम की राह तलाश रहे कंजर्वेटिव निवेशकों के लिए यह एक आदर्श निवेश ऑप्शन है। अगर आप अपना कुछ पैसे निवेश के सुरक्षित ऑप्शन में लगाना चाहते हैं तो ये दो तरीके आपकी मदद कर सकते हैं।

सोना (Gold)
बढ़ती महंगाई के बीच सुरक्षित निवेश की बात हो तो सोना एक पर्फेक्ट ऑप्शन है। आर्थिक उथल-पुथल के बीच गोल्ड को निवेश के लिए सेफ हेवन माना जाता है। आप चाहें तो गोल्ड ETFs (Exchange-Traded Funds) या सोवेरिन गोल्ड बॉन्ड्स में निवेश कर सकते हैं।

बता दें कि निवेश के किसी भी ऑप्शन में पैसे लगाते समय उसके जोखिम या लॉक-इन-पीरियड के बारे में अच्छे से पता कर लें। अपनी आर्थिक स्थिति और लक्ष्य के हिसाब से ही कोई फैसला लें।