बिहार में गांव से निकलते ही दूल्हे ने कार में कर दी ‘गंदी हरकत’, दुल्हन ने लिया ये बड़ा फैसला

In Bihar, the groom did a 'dirty act' in the car as soon as he left the village, the bride took this big decision
In Bihar, the groom did a 'dirty act' in the car as soon as he left the village, the bride took this big decision
इस खबर को शेयर करें

सारण: बिहार के सारण जिले में शराब के कारण एक दूल्हा सात फेरे लेने के बाद भी अपना वैवाहिक जीवन शुरू करने से वंचित रह गया. दूल्हे में विवाह के दौरान चार पैग तो लगा लिए, लेकिन शादी के बाद वो दुल्हन को अपने घर नहीं ले जा सका. जिसके बाद ये मामला पंचायत तक पहुंचा फिर वहां भी कोई बात नहीं बनी. मामला जिले के गड़खा थाना क्षेत्र के मोतीराजपुर गांव का है. मिली जानकारी के अनुसार गड़खा के मोतीराजपुर में शादी समारोह में विवाह की रस्म पूरी होने के बाद विदाई के समय नशे में धूत दूल्हे की अश्लील हरकत को देखकर दुल्हन ने ससुराल जाने से इनकार कर दिया. जिसके बाद घंटों तक विवाद चलता रहा, लेकिन दुल्हन नशेड़ी दूल्हे के साथ जाने के लिए तैयार नहीं हुई.

बरात सिवान जिले के भगवानपुर हाट थाना क्षेत्र के साह टोला बड़का गांव से मोतीराजपुर आई थी. गड़खा थाना क्षेत्र के मोतीराजपुर के मुकुरधुन महतो की पुत्री कुमारी पूजा की शादी कैलाश महतो के पुत्र मुन्ना महतो से तय थी. शादी को लेकर दोनों घरों में खुशी का माहौल था. धूम-धाम से बरात भी आई.समय पर दवावाजा लगने के बाद जयमाला का कार्यक्रम हुआ और सिंदूर दान के समय दूल्हा मुन्ना कुमार जब नशे की हालत में मंडप में पहुंचा तो सिंदूर भरते समय ही वो लड़खड़ाने लगा. यह देखकर दुल्हन को थोड़ा शक हुआ और वह उससेदूर बैठ गई. उस समय वहां मौजूद लोगों ने किसी तरह दूल्हे को काबू में किया.

विवाह के बाद जब विदाई का वक्त हुआ तो दुल्हन की विदाई की भी रस्म पूरी हो गई. विदाई के बाद जब दुल्हन की गाड़ी गांव से थोड़ी दूर गई थी कि दूल्हे ने नशे की हालत में दुल्हन के साथ अश्लील हरकत शुरू कर दी. इसके बाद दुल्हन ने शराबी दूल्हे के साथ जाने से मना कर दिया. उसके बाद पूरे गांव में अफरातफरी मच गई. वहीं लड़की के घरवालों ने भी अपनी बेटी के फैसले का साथ दिया. इस दौरान घंटों पंचायत होने के बाद भी दुल्हन शराबी लड़के के साथ जाने को तैयार नहीं हुई. इस दौरान गांववालों ने लड़के व उसके भाई को बंधक बना लिया. फिर पंचायत के बाद सभी को छोड़ दिया गया.